e0a4b0e0a582e0a4b8e0a580 e0a4b8e0a588e0a4a8e0a4bfe0a495 e0a495e0a587 e0a496e0a4bfe0a4b2e0a4bee0a4ab e0a495e0a580e0a4b5 e0a4aee0a587
e0a4b0e0a582e0a4b8e0a580 e0a4b8e0a588e0a4a8e0a4bfe0a495 e0a495e0a587 e0a496e0a4bfe0a4b2e0a4bee0a4ab e0a495e0a580e0a4b5 e0a4aee0a587 1

कीव. रूस और यूक्रेन के बीच शुरू हुए युद्ध के तीन महीने बाद पहली बार यूक्रेन में एक रूसी सैनिक के खिलाफ युद्ध अपराध का मुकदमा चलाया जा रहा है. आरोपी रूसी सैनिक पर एक बुजुर्ग की बिना किसी कारण हत्या करने का आरोप है. आरोपी रूसी सैनिक यूक्रेन के कब्जे में है और उसने अपना गुनाह स्वीकार कर लिया है. इस मुकदमे के बाद अब रूसी सैनिकों के खिलाफ कई दूसरे मामले भी खुल सकते हैं. यूक्रेनी न्याय प्रणाली ने यह काम उस वक्त किया है जब अंतरराष्ट्रीय संस्थान भी रूसी बलों के दुर्वव्यवहार की जांच कर रही है. रिपोर्ट के मुताबिक 21 साल के वादिम शिशिमारिन को सोलोमिन्सकि जिला अदालत में उपस्थित होना होगा, उन पर 28 फरवरी को उत्तर पूर्वी यूक्रेन में एक 62 साल के निर्दोष बुजुर्ग की हत्या का आरोप है. युद्ध अपराध के आरोप और जघन्य हत्या के चलते साइबेरिया में इर्कुत्सक के सैनिक को उम्र कैद हो सकती है.

साइकिल पर सवार व्यक्ति को चलते हुए गोली मारी
सैनिक के वकील विक्टर ओवसियानिकोव ने एएफपी को बगैर बचाव पक्ष के मामले का खुलासा करते हुए बताया कि वह समझता है उस पर क्या आरोप लगाया गया है. वहीं यूक्रेन के अधिकारियों का कहना है कि आरोपी जांचकर्ताओं के साथ पूरा सहयोग कर रहा है और उसने उन घटनाओं के तथ्यों को भी स्वीकारा है जो रूसी आक्रमण के ठीक चार दिन बाद हुई थी. उनका कहना है कि जब शिशिमरीन के काफिले पर हमला हुआ उस वक्त वह एक टैंक डिविजन में यूनिट की कमान संभाल रहे थे. वहीं अभियोजक का कहना है कि शिशिमरीन और उनके चार सैनिक साथियों ने एक कार चुराई थी और वह लोग शुपाखिवका गांव के पास से गुजर रहे थे जहां उनका सामना साइकिल पर जाते एक 62 वर्षीय बुजुर्ग से हुआ. एक सैनिक ने उस बुजुर्ग को मारने का आदेश दिया ताकि वह उन पर कोई इल्जाम नहीं लगा सके. इसके बाद शिशिमरीन ने अपनी गाड़ी की खिड़की से बंदूक बाहर निकालकर उस बुजुर्ग पर हमला किया, गोली लगते ही वह तुरंत मारा गया, उस वक्त वह अपने घर से चंद मीटर की दूरी पर था.

READ More...  नाइजीरिया के चर्च में भगदड़ से 31 लोगों की मौत, मरने वालों में ज्यादातर बच्चे

40 से अधिक संदिग्ध
यूक्रेनी अधिकारियों ने मई महीने की शुरुआत में ही एक वीडियो जारी करते हुए गिरफ्तारी की घोषणा की थी, हालांकि उन्होंने कोई विवरण साझा नहीं किया था. वीडियो में शिशिमारिन ने कहा था कि वह यूक्रेन इसलिए लड़ने आया है क्योंकि उसे अपनी मां की आर्थिक मदद करनी है. उसने कहा कि उसे गोली मारने का आदेश दिया और उसने गोली मार दी. गोली लगते ही आदमी गिर गया और हमने आगे जाना जारी रखा. इसके बाद बचाव पक्ष के वकील के लिए मामला चुनौतीभरा हो गया है. यूक्रेन की मुख्य अभियोजक इरीना वेनेडिक्तोवा ने कई ट्वीट्स करके बताया है कि यह मामले उनके देश के लिए बेहद अहम है. हमारे पास 11000 हजार से अधिक युद्ध अपराध के मामले हैं और 40 से अधिक संदिग्ध हैं. उन्होंने कहा कि इस मुकदमे के जरिए हम साफ संदेश देना चाहते हैं कि हर एक अपराधी या ऐसा कोई व्यक्ति जिसने अपराध करने का आदेश दिया, वह बचेंगे नहीं. इसके अलावा यूक्रेन के उत्तरपूर्वी खार्किव क्षेत्र में शहर पर रॉकेट दागने के मामले में दो रूसी सैनिकों पर मुकदमा चल रहा है.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : May 18, 2022, 15:52 IST

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)