e0a4b0e0a587e0a4b2e0a4b5e0a587 e0a4aee0a482e0a4a4e0a58de0a4b0e0a4bee0a4b2e0a4af e0a495e0a4be e0a4ace0a4a1e0a4bce0a4be e0a4abe0a588

नई दिल्‍ली. रेलवे मंत्रालय ने टेलीकॉम नेटवर्क से जुड़ एक बड़ा फैसला लिया है. इस फैसले के तहत अब कोई भी कंपनी रेलवे की जमीन,आफिस या स्‍टेशन पर टावर लगा सकता है. इससे जहां एक ओर यात्रियों और स्‍टेशनों व रेलवे आफिसों के आसपास रहने वाले लोगों को फायदा होगा, उन्‍हें 5जी का अच्‍छा नेटवर्क मिल सकेगा, वहीं रेलवे को इससे राजस्‍व प्राप्‍त होगा.

अभी तक रेलवे की जमीन, स्‍टेशनों या अफिसों पर अभी तक टेलीकॉम नेटवर्क के लिए टावर रेलवे की पीएसयू रेलटेल लगाती थी. चूंकि अब 5जी नेटवर्क आ गया है और 5जी का टॉवर 4जी के मुकाबले काफी कम अंतराल में लगाए जाते हैं. इसलिए केवल रेलटेल पूरे देश में कम समय में 5जी के टॉवर लगाना संभव नहीं था. इस वजह से रेलवे बोर्ड ने इससे संबंधित पॉलिस में बदलाव किया है. अब कोई भी कंपनी रेलवे की जमीन, स्‍टेशन और आफिसों पर टेलीकॉम पोल या टॉवर लगा सकता है.

पॉलिसी की शर्तो के अनुसार रेलवे की जमीन पर लगाए गए टॉवरों की जिम्‍मेदारी रेलवे की नहीं होगी. इसके अलावा इन टॉवरों पर विज्ञापन आदि लगाने का अधिकार संबंधित कंपनियों के नहीं होंगे.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर

राज्य चुनें
दिल्ली-एनसीआर

ये होगा फायदा

.रेलवे के इस फैसले से रेलवे में सफर करने वाले यात्रियों, रेलवे आफिसों में काम करने वाले कर्मचारियों और इनके आसपास रहने वाले यात्रियों के 5जी नेटवर्क मिल सकेगा.

. रेलवे की जमीन टॉवर लगाने वाली कंपनी टॉवर की एक तय फीस चुकाएगी.

Tags: Indian railway, Indian Railway news, Indian Railways, Telecom business

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)

READ More...  'भारत जोड़ो यात्रा' का भ्रामक वीडियो पोस्ट करने के आरोप में शख्स पर केस दर्ज