e0a4b5e0a4bfe0a4aae0a495e0a58de0a4b7 e0a495e0a587 pm e0a4abe0a587e0a4b8 e0a495e0a58b e0a4b2e0a587e0a495e0a4b0 e0a493e0a4b5e0a588e0a4b8
e0a4b5e0a4bfe0a4aae0a495e0a58de0a4b7 e0a495e0a587 pm e0a4abe0a587e0a4b8 e0a495e0a58b e0a4b2e0a587e0a495e0a4b0 e0a493e0a4b5e0a588e0a4b8 1

हाइलाइट्स

ओवैसी ने PM पद के लिए विपक्ष की तरफ से उम्मीदवार न देने को कहा
AIMIM प्रमुख ने कहा इससे भाजपा को मिलेगा फायदा
ओवैसी ने कहा- सभी सीटों पर सीधे भाजपा को दें कड़ी टक्कर

नई दिल्ली: देश में 2024 में लोकसभा (Loksabha Election) के चुनाव होने हैं. सत्तादल से लेकर कांग्रेस (Congress) समेत पूरा विपक्ष इसकी तैयारियों में लगा है. इस बीच विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री उम्मीदवार को लेकर भी चर्चा होती रहती है. विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री (Prime Minister Face) पद के चेहरे को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owasi) ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि अगर विपक्ष की तरफ से प्रधानमंत्री (Prime minister) पद के लिए कोई विशेष चेहरा दिया जाता है तो 2024 के लोकसभा चुनावों (Loksabha Election 2024) में भाजपा के पास विपक्षी ताकतों पर स्पष्ट बढ़त होगी.

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक AIMIM प्रमुख ने कहा कि बीजेपी (BJP) को हराने के लिए विपक्ष को हर लोकसभा क्षेत्र में एकजुट होने की जरूरत है. ओवैसी ने कहा, “विपक्ष को सभी 540 संसदीय क्षेत्रों में भाजपा को कड़ी टक्कर देनी चाहिए. अगर विपक्ष का कोई एक चेहरा भाजपा के खिलाफ लड़ता है, तो इससे भाजपा को फायदा होगा.” उन्होंने कहा कि अगर यह मोदी (PM Narendra Modi) बनाम केजरीवाल (Arvind Kejriwal) या राहुल गांधी (Rahul Gandhi) होता है तो इससे प्रधानमंत्री मोदी को फायदा होगा.”

पढ़ें- पूर्व डिप्टी CM समेत 17 बड़े नेता कांग्रेस में शामिल, पार्टी महासचिव ने बताया ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का कमाल

READ More...  हरियाणा में शराब पर बवाल, पानीपत में सीएम का किया जाएगा विरोध, काले झंडों के साथ लोग तैयार

आप ने केजरीवाल से बताई लड़ाई
गौरतलब है कि 2019 में, विपक्ष ने मोदी सरकार को बेदखल करने के लिए एक महागठबंधन बनाया था. हालांकि, गठबंधन अपने उद्देश्य में सफल नहीं हुआ और अंततः चुनाव में मिली हार के बाद यह टूट गया. अभी 2024 के चुनाव में एक साल से ज्यादा का वक्त बचा है. लेकिन सभी राजनीतिक दलों ने चुनाव के लिए तैयारियां शुरू कर दी है. 2024 के लोकसभा चुनावों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ, आम आदमी पार्टी (AAP) ने हाल ही में दावा किया है कि 2024 की लड़ाई दिल्ली के मुख्यमंत्री (Delhi CM) अरविंद केजरीवाल और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच होगी. आप ने दावा किया कि भाजपा और पीएम मोदी, केजरीवाल की बढ़ती लोकप्रियता, राष्ट्रीय राजधानी में उनके शासन के मॉडल और देश में आप के बढ़ते चुनावी प्रभाव से हिल गए हैं.

” isDesktop=”true” id=”5190357″ >

ममता बनर्जी को लेकर यह कहा
न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक जब AIMIM प्रमुख से यह पूछा गया कि क्या पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ एक चेहरा हो सकती हैं, इस पर ओवैसी ने कहा, “ममता बनर्जी (हाल ही में) ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ बैठक करती हैं. इसलिए उनको कोई भी यह नहीं कह सकता कि वो चेहरा जो सकती हैं या नहीं. ये कोई निश्चित नहीं है कि उन्हें प्रधानमंत्री के खिलाफ लड़ना चाहिए या नहीं.” आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने पहले सभी विपक्षी मुख्यमंत्रियों को एक साथ आने और 2024 में भाजपा के खिलाफ एकजुट लड़ाई लड़ने का आह्वान किया था.

Tags: Arvind kejriwal, Asaduddin Awaisi, Loksabha Election 2024, Mamata banerjee, Narendra modi, Rahul gandhi

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)