e0a4b5e0a4bfe0a4b0e0a4bee0a49f e0a495e0a58be0a4b9e0a4b2e0a580 e0a495e0a580 e0a495e0a482e0a4aae0a4a8e0a580 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ae
e0a4b5e0a4bfe0a4b0e0a4bee0a49f e0a495e0a58be0a4b9e0a4b2e0a580 e0a495e0a580 e0a495e0a482e0a4aae0a4a8e0a580 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ae 1

नई दिल्ली. विराट कोहली (Virat Kohli) के निवेश वाली गो डिजिट जनरल इंश्योरेंस कंपनी (Go Digit General Insurance Company) को शुक्रवार को स्टॉक एक्सचेंज बीएसई और एनएसई पर लिस्टिंग के लिए लाने के लिए इरडा (IRDAI) ने अपनी मंजूरी दे दी है. हालांकि अभी सेबी (SEBI) की अनुमति मिलना बाकी है. ये आईपीओ करीब 1250 करोड़ रुपये का होगा. आईपीओ से प्राप्त आय का उपयोग कंपनी के पूंजी आधार को बढ़ाने और सॉल्वेंसी स्तरों और सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्यों के रखरखाव के लिए किया जाएगा.

गो डिजिट ने अगस्त 2022 में पूंजी बाजार नियामक सेबी के साथ प्रारंभिक आईपीओ दस्तावेज दाखिल किए थे. रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (DRHP) के मसौदे के अनुसार, गो डिजिट जनरल इंश्योरेंस लिमिटेड ने एक आईपीओ जारी करने की योजना बनाई है जिसमें 1,250 करोड़ रुपये के इक्विटी शेयर और 10,94,45,561 इक्विटी शेयरों की बिक्री के लिए प्रस्ताव (ओएफएस) शामिल है.

ये भी पढ़ें: ब्याज ही ब्याज! आपके निवेश पर मिलेगा 8% तक रिटर्न, जानें किसका है ऑफर

250 करोड़ रुपये तक का प्री-आईपीओ प्लेसमेंट
ऑफर फॉर सेल के तहत गो डिजिट इंफोवर्क्स सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड 10,94,34,783 इक्विटी शेयर बेचेगी. साथ ही, कंपनी 250 करोड़ रुपये तक के इक्विटी शेयरों के प्री-आईपीओ प्लेसमेंट पर विचार कर सकती है. यदि ऐसा प्लेसमेंट पूरा हो जाता है, तो नए इश्यू का आकार कम हो जाएगा.

विराट-अनुष्का का है निवेश
गो डिजिट अन्य बीमा उत्पादों के अलावा यात्रा बीमा, स्वास्थ्य बीमा, मोटर बीमा, संपत्ति बीमा, देयता बीमा और समुद्री बीमा प्रदान करता है. कंपनी भारत में क्लाउड पर पूरी तरह से संचालित होने वाली पहली गैर-जीवन बीमा कंपनियों में से एक है और इसने कई चैनल भागीदारों के साथ एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस (एपीआई) एकीकरण विकसित किया है. आईपीओ पेपर्स के मुताबिक, गो डिजिट जनरल इंश्योरेंस में क्रिकेटर विराट कोहली और उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा निवेशकों में शामिल हैं.

READ More...  नए नाम के साथ आ रही Suzuki Jimny 5 डोर, पावरफुल होंगे फीचर्स

ये भी पढ़ें: अपने लाखों-करोड़ों के घर को नुकसान से बचाने के लिए करें ये काम, सामान चोरी होने पर भी मिलेगा पैसा

बीते साल बनी थी यूनिकॉर्न
यह कंपनी पिछले साल जनवरी में यूनिकॉर्न बनी थी. इसका वैल्यूएशन उस समय 1.9 अरब डॉलर था. इसके बाद कंपनी की वैल्यू देखते ही देखते बढ़कर 3.5 अरब डॉलर हो गई. भारतीय फिनटेक स्टार्टअप कंपनी डिजिट की इस ग्रोथ के पीछे मोबाइल टेक्नॉलजी के माध्यम से बीमा ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित करना एक मुख्य कारण है.

Tags: Business news in hindi, IPO, Virat Kohli

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)