e0a4b6e0a4b0e0a4a6 e0a4aae0a4b5e0a4bee0a4b0 e0a4a8e0a587 e0a4b0e0a4bee0a4b7e0a58de0a49fe0a58de0a4b0e0a4aae0a4a4e0a4bf e0a4aae0a4a6
e0a4b6e0a4b0e0a4a6 e0a4aae0a4b5e0a4bee0a4b0 e0a4a8e0a587 e0a4b0e0a4bee0a4b7e0a58de0a49fe0a58de0a4b0e0a4aae0a4a4e0a4bf e0a4aae0a4a6 1

नई दिल्ली: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार (NCP Chief Sharad Pawar) ने बुधवार को साफ कर दिया कि, उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव (Presidential Election 2022) के लिए विपक्षी दलों द्वारा उम्मीदवार के रूप में उनका नाम रखे जाने के प्रस्ताव को ठुकरा दिया है. एनसीनी चीफ शरद पवार ने ट्वीट करके अपने इस फैसले की वजह बताई. शरद पवार के इनकार के बाद बंगाल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए जम्मू- कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला और महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी के नाम का सुझाव दिया.

वहीं शरद पवार ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, मैं दिल्ली में हुई बैठक में भारत के राष्ट्रपति के चुनाव के लिए एक उम्मीदवार के रूप में मेरा नाम सुझाने के लिए विपक्षी दलों के नेताओं का धन्यवाद करता हूं. हालांकि मैं यह बताना चाहता हूं कि मैंने अपनी उम्मीदवारी के प्रस्ताव को विनम्रतापूर्वक अस्वीकार कर दिया है. मुझे खुशी है कि आम आदमी की भलाई के लिए अपनी सेवा जारी रखूंगा.

फारूक अब्दुल्ला के नाम पर फिलहाल सहमति नहीं

बुधवार को नई दिल्ली में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राष्ट्रपति चुनाव की उम्मीदवारी को लेकर विपक्षी दलों की बैठक बुलाई थी. इसमें शरद पवार, मल्लिकार्जुन खडगे, रणदीप सिंह सुरजेवाला, एचडी देवगौड़ा, टी आर बालू, उमर अब्दुल्ला, अखिलेश यादव और महबूबा मुफ्ती समेत कई नेता शामिल हुए. हालांकि आम आदमी पार्टी और तेलंगाना राष्ट्र समिति के नेता इस बैठक में नहीं पहुंचे.

राहुल गांधी से ईडी की पूछताछ जारी, दिल्ली में पुलिस हिरासत में लिए गए 800 कांग्रेसी नेता

READ More...  DGCA ने स्पाइस जेट पर लगाया लाखों का जुर्माना, खराब सिम्युलेटर पर पायलटों को प्रशिक्षण देने का आरोप

इस मीटिंग में शरद पवार के इनकार के बाद और फारूक अब्दुल्ला पर फिलहाल सहमति नहीं बनने पर विपक्षी नेताओं ने कहा कि, अगले कुछ दिनों में गैर भाजपाई सभी दलों से विचार विमर्श के बाद राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्ष के साझा उम्मीदवार के नाम की घोषणा की जाएगी.

इससे पहले ममता बनर्जी ने 22 विपक्षी दलों को पत्र लिखकर बीजेपी के खिलाफ एकजुट होने की अपील की थी और राष्ट्रपति चुनाव में एकजुटता दिखाने का आह्वान किया था.

Tags: Chief Minister Mamata Banerjee, NCP chief Sharad Pawar, President of India

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)