e0a4b6e0a4bee0a4a6e0a580 e0a4b8e0a587 18 e0a4a6e0a4bfe0a4a8 e0a4aae0a4b9e0a4b2e0a587 e0a4a1e0a58de0a4afe0a582e0a49fe0a580 e0a4a8e0a4bf
e0a4b6e0a4bee0a4a6e0a580 e0a4b8e0a587 18 e0a4a6e0a4bfe0a4a8 e0a4aae0a4b9e0a4b2e0a587 e0a4a1e0a58de0a4afe0a582e0a49fe0a580 e0a4a8e0a4bf 1

बाड़मेर. पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर जिले के गिराब में 18 दिन बाद दूल्हा  बनने वाले होमगार्ड जवान (Home guard jawan) ने ड्यूटी निभाते हुए अपनी जान दे दी. घर पर शादी की तैयारियां जोरों से चल रही थीं. दूल्हा और दुल्हन (Bride and groom) दोनों परिवार के हर सदस्यों के चेहरे पर खुशी का माहौल था. लेकिन करौली जिले के हिंडौन सिटी में हुए हादसे ने दोनों घरों की खुशियों को मातम में बदल दिया. हादसे से करीब 7 घंटे पहले ही उसकी परिवार से बात हुई थी. तब उसने कहा कहा था कि दो दिन में छुट्‌टी लेकर आ जाऊंगा. शादी के कार्ड छपवा दूंगा.

हिंडौन सिटी में कार्यरत होमगार्ड जवान नेमाराम की शादी 8 जुलाई को होने वाली थी. अपनी शादी के लिए उसने उच्चाधिकारियों से छुट्टी भी मांग रखी थी. कुछ ही दिनों में छुट्‌टी लेकर वह अपने गांव गिराब आने वाला था. लेकिन इस बीच सोमवार को सुबह हुए हादसे में उसकी जान चली गई. परिजनों ने बताया कि नेमाराम साल 2018 में होमगार्ड में भर्ती हुआ था. इसी साल अप्रैल में ही हिंडौन सिटी में उसकी ड्यूटी लगी थी. तब से वहीं रह रहा था. वह शादी पर छुट्‌टी लेकर घर आने वाला था. मृतक के पिता सागराराम मेघवाल भी बाड़मेर होमगार्ड में कार्यरत थे.

यह था पूरा मामला
दरअसल करौली में दो दिन पहले अवैध रूप से सैंड स्टोन के ब्लॉक ले जा रहे ट्रक को खनिज विभाग की टीम ने रीको औद्योगिक क्षेत्र में पकड़ लिया था. बाद में उसे जब्त कर उसे नई मंडी थाना इलाके के महू पुलिस चौकी ले जाने के निर्देश दिए थे. निगरानी के लिए उसमें ड्राइवर के साथ 3 होमगार्ड को बिठा दिया गया. इसके साथ ही ट्रक के आगे और पीछे खनिज विभाग की गाड़ी चलने लगी.

READ More...  Agnipath: 24 जून से शुरू होगी भर्ती की प्रक्रिया, 24 जुलाई को पहले फेज की परीक्षा, जानें भर्ती प्रक्रिया की डिटेल्स

ट्रक ड्राइवर ने खनिज विभाग की गाड़ी को मारी टक्कर
रास्ते में ट्रक ड्राइवर ने आगे चल रही खनिज विभाग की गाड़ी को टक्कर मारी. होमगार्ड के जवानों ने उसे मना किया तो बोला कि मैं खुद तो मरूंगा तुम लोग भी जिंदा नहीं बचोगे. कुछ दूर आगे जाने पर ड्राइवर खुद कूद गया और ट्रक को पुलिया के नीचे गिरा दिया. इस हादसे में बाड़मेर निवासी नेमाराम की ट्रक केबिन के नीचे दबने से मौत हो गई. दो अन्य होमगार्ड जवान घायल हैं.

दो साल पहले हुई थी सगाई
परिजनों ने बताया कि नेमाराम (22) की सगाई करीब 2 साल पहले खुडाणी निवासी छगनी पुत्री भंवराराम मेघवाल के साथ हुई थी. छगनी आठवीं तक पढ़ी है. कुछ माह पहले ही दोनों की शादी की तारीख तय की थी. नेमाराम और छगनी की शादी की तारीख 8 जुलाई तय हुई थी. लेकिन नेमाराम की मौत की खबर के बाद घर के बाहर सन्नाटा पसर गया. नेमाराम के परिजनों का कहना है कि शादी की तैयारियों को लेकर सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई थी.

Tags: Barmer news, Big accident, Crime News, Rajasthan news

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)