e0a4b8e0a4aae0a4be e0a4aee0a580e0a4a1e0a4bfe0a4afe0a4be e0a4b8e0a587e0a4b2 e0a495e0a587 e0a4b8e0a4a6e0a4b8e0a58de0a4af e0a495e0a580

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में समाजवादी पार्टी के मीडिया सेल के सदस्य को रविवार सुबह पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोप है कि उन्होंने ट्विटर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है. वहीं उनकी गिरफ्तारी के बाद लखनऊ में सपा कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है. इस मामले में पुलिस कमिश्नर एसबी शिरडकर ने कहा कि हम इस तरह की परिस्थिति से निपटने के लिए हमेशा तैयार रहे हैं और आगे भी रहेंगे. इस मामले की विवेचना हो रही है और जैसे जैसे नाम आगे आ रहे हैं उनके विरुद्ध कार्रवाई हो रही है.

पुलिस कमिश्नर एसबी शिरडकर ने कहा कि एक राजनीतिक दल के ट्विटर हैंडल से बीजेपी के नेताओं, पत्रकारों, उनके परिवारों के खिलाफ आपत्तिजनक ट्वीट किए जा रहे थे. मनीष जगन अग्रवाल को इसके चलते रविवार को गिरफ्तार किया गया है. आगे भी इसी प्रकार की कार्रवाई की जाएगी. समाजवादी पार्टी की ओर से डॉक्टर ऋचा राजपूत के खिलाफ तहरीर दी गई है, जिस पर एफआईआर दर्ज की गई है. चार मुकदमों में विवेचना जारी है.

आपके शहर से (लखनऊ)

उत्तर प्रदेश
लखनऊ

उत्तर प्रदेश
लखनऊ

आपत्तिजनक ट्वीट से शांति भंग होने की आशंका थी: पुलिस
उन्होंने कहा कि इन आपत्तिजनक ट्वीट से शांति भंग होने की आशंका थी, इसलिए गिरफ्तारी की गई है. अखिलेश यादव आए तो उन्हें यहां पूरा सम्मान दिया गया. चाय भी पिलाई गई. पूरी गहन विवेचना के बाद ही पुलिस ने कार्रवाई की है. धरने की जगह पहले से निर्धारित है. मनीष जगन के द्वारा समय समय पर मर्यादा के विरूद्ध ट्वीट किए गए हैं. जातिगत विद्वेष से भी ट्वीट किए गए हैं. उसे मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा. आपत्तिजनक ट्वीट से शांति भंग होने के पूरे आसार थे, इसलिए कार्रवाई की गई है.

अखिलेश यादव बोले- भाजपा सरकार में न्याय की उम्मीद मत करिए: अखिलेश
इस कार्रवाई को लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की सरकार में नए की उम्मीद मत करिए. जो सच बोलेगा वो सज़ा पायेगा. ये कोई घटना एक दिन की नहीं है. भाजपा जानबूझकर गलत भाषा लिखवाती है. प्रशासन से लेकर हर कोई भाजपा के कार्यकर्ता बन कर काम कर रहे हैं. पुलिस मुख्यालय पर कोई काम करने वाला नहीं है. जिम्मेदार व्यक्ति तक नहीं है. मुख्यमंत्री जो कहते थे कि १२ बजे सो कर उठते हैं वो खुद अपने अधिकारियों के बारे में कहते थे. हमारी मांग थी कि जिन भाजपा के नेताओं ने गलत भाषा का इस्तेमाल किया है उनके खिलाफ भी कार्रवाई हो.

यूपी पुलिस का बड़ा आरोप
पुलिस कुछ भी कर सकती है. रमाकांत यादव देख लो, आजम खान देख लो ये लोग बड़े नेता से लेकर छोटे नेता हर किसी को परेशान कर रहे हैं. अभी कानपुर में क्या हुआ? हमें मिलने नहीं दिया है. वापस जा रहा हूं. मैं इसलिए जेल आया कि अपने कार्यकर्ताओं को जेल का दरवाजा दिखा दूं. यहीं आना है सबको.

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)

READ More...  दिन में रैली और रोड शो, रात में ढाबे पर डिनर करने पहुंचे गृहमंत्री अमित शाह