Congress leader Rahul Gandhi - India TV Hindi
Image Source : VIDEO GRAB/@RAHULGANDHI Congress leader Rahul Gandhi 

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी शिकागो यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर दिपेश चक्रवर्ती से विभिन्न मुद्दों पर शुक्रवार को ऑनलाइन चर्चा की। राहुल गांधी ने कहा कि सरकार ट्वीटर से जो खाते बंद करवा रही है उनमें अधिकतर कांग्रेस नेताओं के हैं। राहुल गांधी ने कहा कि अगर मुझे अपोजिशन के नेता के रूप में लोगों की बात रखनी है तो उसके लिए मुझे संस्थाओं के सहयोग की जरूरत है लेकिन सरकार का सभी व्हाट्सऐप, ट्वीटर आदि पर सरकार का कंट्रोल है। सरकार ने जिन हजार से ज्यादा अकाउंट को ट्वीटर से बंद करने को कहा है उनमें अधिकतर कांग्रेस नेताओं के हैं। 

दादी-पिता की शहादत मजबूती से डटे रहने की प्रेरणा देती है- राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी शिकागो यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर दीपेश चक्रवर्ती से विभिन्न मुद्दों पर चर्चा के दौरान कहा कि मुझे गर्व है कि मेरी दादी और पिता एक विचार का बचाव करते हुए मारे गए। यह मुझे उनकी और मेरी जगह को समझने में मदद करता है और यह भी कि मुझे क्या करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जैसा कि मैं इस यात्रा में और आगे बढ़ चुका हूं, तो वे विचार और अधिक स्फूर्त हुए हैं। यदि आप मुझसे पूछेंगे कि मैंने 15-20 साल पहले राजनीति में शामिल होने का फैसला क्यों किया, तो मेरा जवाब आज जो होगा उससे बहुत अलग होगा जो मैं उस समय देता।

ये भी पढ़ें: पार्टी चाहती है कि रोज पीएम को गाली दें तो हमसे नहीं होगा- दिनेश त्रिवेदी

READ More...  घोड़े का मना जन्मदिन, मालिक ने 50 पाउंड का काटा केक, दी पार्टी

राहुल गांधी ने आगे कहा कि जैसे-जैसे मैं आगे बढ़ता हूं, विचारों की लड़ाई तेज होती जाती है। जैसा कि अन्य विचार मुझ पर हमला करते हैं, तो यह मुझे खुद को और बेहतर बनाने में मदद करता है। ट्रोलर्स ने मेरी समझ को तेज किया कि मुझे क्या करना है। वे लगभग मेरे लिए मार्गदर्शक की तरह हैं, वे मुझे बताते हैं कि मुझे कहां जाना है और मुझे किस चीज के लिए खड़ा होना है, यह एक विकास है।

ये भी पढ़ें: मुद्रा के तहत लोन कौन लेता है, दामाद? वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कसा तंज

केंद्र सरकार ने ट्वीटर से 1178 पाकिस्तानी-खालिस्तानी अकांउट हटाने का कहा

दरअसल, केंद्र सरकार ने हाल ही ट्वीटर से पाकिस्तानी-खालिस्तानी समर्थकों से जुड़े 1178 अकाउंट को डिलीट करने के लिए कहा है। इन अकाउंट्स से किसान आंदोलन को लेकर झूठे और भड़काऊ पोस्ट किये जा रहे हैं। हालंकि ट्विटर ने अपील पर फिलहाल अभी कोई कार्रवाई नहीं की है। सरकार का तर्क है कि भारत में शान्ति व्यवस्था को प्रभावित करने और दंगा भड़काने के लिए पाकिस्तानी और खालिस्तानी समर्थक सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डाल रहे हैं, जो तेजी से वायरल हो रहे। बता दें कि, इसके पहले किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा के बाद ट्वीटर ने एक्शन लेते हुए 550 अकाउंट सस्पेंड कर दिए थे। एक न्यूज एजेंसी ने ट्विटर प्रवक्ता के हवाले से जानकारी दी कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर ने उन ट्वीट्स को फ्लैग भी किया है, जिन्होंने ट्विटर की नीतियों का उल्लंघन किया है।

READ More...  देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े, एक दिन में 62,258 नए मामले सामने आए

Original Source(india TV, All rights reserve)