e0a4b8e0a4bee0a489e0a4a5 e0a485e0a4abe0a58de0a4b0e0a580e0a495e0a4be e0a495e0a587 e0a487e0a4b8 e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a4aee0a587e0a482
e0a4b8e0a4bee0a489e0a4a5 e0a485e0a4abe0a58de0a4b0e0a580e0a495e0a4be e0a495e0a587 e0a487e0a4b8 e0a4a6e0a587e0a4b6 e0a4aee0a587e0a482 1

हाइलाइट्स

दक्षिण पूर्वी अफ्रीका के मलावी में हैजा के चलते 214 लोगों की मौत हो चुकी है.
मलावी के स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी है कि अब हैजा के मामले कम होते जा रहे हैं.
हाल ही में मलावी को 29 लाख वैक्सीन उपलब्ध कराई गई हैं.

लिलोंग्वे, मलावी. दक्षिण पूर्वी अफ्रीका के मलावी में हैजा का बढ़ता हुआ प्रकोप अब थमने लगा है. इसकी जानकारी मलावी के स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी है. यहां अभी तक हैजा के चलते 214 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि राहत की बात यह है कि पिछले एक महीने में देश में कोहराम मचा रही हैजा की बीमारी का प्रकोप चरम पर पहुंचने के बाद कम होना शुरू हो गया है. मलावी में मार्च के बाद से हैजा के 7,499 मामले दर्ज किए जा चुके हैं.

वहीं संयुक्त राष्ट्र ने टिप्पणी की है कि हैजा का 10 वर्षों में इस साल सबसे बड़ा प्रकोप रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मंगलवार को 174 नए मामले सामने आए. स्वास्थ्य मंत्रालय में निवारक स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशक स्टॉर्म काबुलुजी ने एएफपी को बताया, “महामारी एक लहर बनाती है और जैसा कि आंकड़े दिखाते हैं, अक्टूबर में चरम पर पहुंचने के बाद से हैजा के मामले कम हो रहे हैं.” इसके साथ ही उन्होंने कहा, “हम यह सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहे हैं कि यह इस बीमारी की अंतिम लहर होगी”.

इस सप्ताह की शुरुआत में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और यूनिसेफ ने कहा कि देश को अपने टीकाकरण अभियान को आगे बढ़ाने के लिए ओरल हैजा वैक्सीन की 2.9 मिलियन खुराक मिली है. बता दें कि हैजा एक जीवाणु से होता है जो आमतौर पर दूषित भोजन या पानी के माध्यम से फैलता है. यह दस्त और उल्टी का कारण बनता है, और छोटे बच्चों के लिए विशेष रूप से खतरनाक हो सकता है.

READ More...  नॉर्थ कोरिया ने पूर्वी तट से फिर दागी बैलिस्टिक मिसाइल, सियोल की सेना ने किया दावा

स्वास्थ्य मंत्रालय ने धर्म के नेताओं से अपील की कि लक्षणों की रिपोर्ट करते समय अनुयायियों को उपचार लेने के लिए प्रोत्साहित करें, क्योंकि कुछ धार्मिक आधार पर ऐसा करने से बच रहे थे. सितंबर में, डब्ल्यूएचओ ने चेतावनी दी थी कि बारिश की कमी के हैजा के प्रकोपों ​​​​में उतार-चढ़ाव दिख सकता है. दुनिया भर में, यह बीमारी हर साल 1.3 मिलियन से चार मिलियन लोगों को प्रभावित करती है, जिससे 143, 000 मौतें होती हैं.

Tags: Pandemic, South africa

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)