e0a4b8e0a582e0a4b0e0a49c e0a4ace0a4a1e0a4bce0a49ce0a4bee0a4a4e0a58de0a4afe0a4be e0a4a8e0a587 e0a4aee0a588e0a482e0a4a8e0a587
e0a4b8e0a582e0a4b0e0a49c e0a4ace0a4a1e0a4bce0a49ce0a4bee0a4a4e0a58de0a4afe0a4be e0a4a8e0a587 e0a4aee0a588e0a482e0a4a8e0a587 1

मुंबई: डायरेक्टर सूरज बड़जात्या (Sooraj Barjatya) ने बॉलीवुड के कई आइकोनिक किरदारों से ऑडियंस को वाकिफ कराया है. इन दिनों वह अपनी हालिया फिल्म ‘ऊंचाई’ को लेकर चर्चा में हैं. अपनी इस फिल्म की स्क्रीनिंग के दौरान उन्होंने बताया था कि वह सलमान खान (Salman Khan) के साथ एक नया प्रोजेक्ट लेकर आने वाले हैं.

बॉलीवुड में सूरज बड़जात्या खासतौर पर अपनी फैमिली ड्रामा फिल्मों के लिए जाने जाते हैं. अब पूरे सात साल बाद डायरेक्टर ने फिल्म ‘उंचाई’ (Uunchai) से कमबैक किया है. हाल ही में सूरज बड़जात्या ने अपने एक इंटरव्यू में सालों पुरानी अपनी एक फिल्म का किस्सा शेयर किया. उन्होंने बताया कि सलमान खान की ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ को बनाने में आखिर क्यों इतना ज्यादा वक्त लगा था. अपनी फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ का जिक्र करते हुए सूरज ने बताया कि, इस फिल्म के लिए दिए गए अपने पहले स्क्रीन टेस्ट में सलमान खान फेल हो गए थे. इतना ही नहीं उन्हें इस फिल्म से बाहर भी कर दिया गया था.

पिता को नहीं था सूरज पर भरोसा

सूरज बड़जात्या ने ह्यूमन्स ऑफ बॉम्बे से हुई बातचीत में अपनी जिंदगी से जुड़े कई अहम बातों का खुलासा किया. उन्होंने बताया कि जब वह 17 साल के थे तब वह अपने पिता राजकुमार बड़जात्या को फिल्म बनाते हुए देखा करते थे. वह अपने पिता के काम से काफी इंप्रेस थे. उन्हें अपने पिता के काम करने का तरीका बहुत अच्छा लगता था. उन्होंने बताया कि, उनके पिता ने कभी सोचा ही नहीं था कि वो कभी कोई फिल्म बी बना सकते हैं. क्योंकि वह बहुत शर्मीले स्वभाव के थे. जिन्होंने कभी स्कूल में किसी चीज में पार्टिसिपेट नहीं किया वो कैसे कोई ऐसा काम करेंगे.

READ More...  'रक्षा बंधन' के प्रमोशन के बीच 'कैप्सूल गिल' की शूटिंग करेंगे अक्षय कुमार? परिणीति चोपड़ा संग जाएंगे UK!

बोमन ईरानी ने ठुकरा दिया था ‘ऊंचाई’ का किरदार, फिर इस बात ने जीत लिया दिल

महेश भट्ट के साथ भी किया काम

सूरज आगे बताते हैं, ‘हाई स्कूल करने के बाद मैंने कॉलेज नहीं बल्कि महेश भट्ट के साथ उनकी फिल्म ‘सारांश’ के लिए काम किया था. तब सूरज एक्टर्स को को स्क्रिप्ट देने से लेकर सेट अप तक काफी चीजों के लिए काम करते थे. लेकिन जब सूरज ने फिल्म डायरेक्शन में हाथ आजमाने के बारे में सोचा तो उनके पिता ने उन्हें नसीहत दी थी कि, “अपनी जिंदगी से प्रेरणा लों,” उसी वक्त सूरज ने ठान लिया था कि वह हमेशा पारिवारिक फिल्मों पर ही काम करेंगे.

जब सलमान स्क्रीन टेस्ट में हुए थे रिजेक्ट

सूरज ने जब अपनी पहली फिल्म ‘मैंने प्यार किया’ के लिए लिखना शुरू किया था, उस वक्त वह सिर्फ 21 साल के थे. वह बताते हैं, ‘मेरी पहली स्क्रिप्ट को रिजेक्ट कर दिया गया था. दोबारा लिखने में मुझे 2 साल लग गए. उस वक्त हम बहुत मुश्किल दौर से गुजर रहे थे क्योंकि हमारी कुछ फिल्में फ्लॉप हो गई थीं. कोई एक्टर भी हमारे साथ काम करने के लिए हामी नही दे रहा था. उसी दौरान मैं एक ऐसे शख्स से मिला जिसे हमने पहले स्क्रीन टेस्ट में बाहर कर दिया था. फिर क्या था हमने 5 महीने बाद प्रेम के रोल के उन्हें ही अप्रोच किया. वो शख्स कोई और नहीं सलमान ही खान थे.’

बता दें कि इसके बाद भी सूरज की कामयाबी के रास्ते खुले नहीं थे. फिल्म की स्क्रिप्ट और कास्ट की तैयारी होने के बाद भी फिल्म के बजट पर आकर बात अटक गई थी. लेकिन सूरज को पूरी उम्मीद थी कि इस फिल्म का जादू लोगों पर जरूर चलेगा. ऐसे में उनके पिता ने उधार पैसे लेकर ये फिल्म बनाई और रिलीज के बाद ये फिल्म ब्लॉकबस्टर साबित हुई.

READ More...  Detail Review: 'द फ्लाइट अटेंडेंट' की ये फ्लाइट सीधे आपके दिमाग पर लैंड करती है

Tags: Entertainment news., Salman khan

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)