e0a4b8e0a58de0a49fe0a4bee0a4b0 e0a495e0a4be e0a4a8e0a4bee0a4ae e0a4aae0a582e0a4b0e0a58de0a4b5 e0a4aae0a580e0a48fe0a4ae e0a485e0a49f
e0a4b8e0a58de0a49fe0a4bee0a4b0 e0a495e0a4be e0a4a8e0a4bee0a4ae e0a4aae0a582e0a4b0e0a58de0a4b5 e0a4aae0a580e0a48fe0a4ae e0a485e0a49f 1

हाइलाइट्स

अटल बिहार वाजपेयी के नाम पर एक स्टार का नाम रखा है.
यह सूर्य के सबसे निकट का तारा है.

औरंगाबाद. देशभर में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की जयंती पर सुशासन दिवस मनाया गया. इस दौरान औरंगाबाद जिले की भाजपा इकाई ने दिवंगत अटल बिहार वाजपेयी के नाम पर एक स्टार का नाम रखा है. पृथ्वी से तारे की दूरी 392.01 लाइट ईयर है. यह सूर्य के सबसे निकट का तारा है. 14 05 25.3 28 51.9 निर्देशांक वाले तारे को 25 दिसंबर, 2022 को अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष रजिस्ट्री में पंजीकृत किया गया है. तारे का नाम अटल बिहारी वाजपेयी जी है.

बता दें कि अटल बिहार वाजपेयी ने 16 मई,1996 से 1 जून 1996 तक और फिर मार्च 19 मार्च, 1998 से 22 मई 2004 तक प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया. उन्होंने 1977 से 1979 तक प्रधानमंत्री मोराजी देसाई के मंत्रिमंडल में भारत के विदेश मंत्री के रूप में कार्य किया. 16 अगस्त, 2018 को दिल्ली के एम्स अस्पताल में उनका निधन हो गया.

25 दिसंबर को सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाता है
2014 में सत्ता आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार वाजपेयी को श्रद्धांजलि के रूप में ऐलान किया कि 25 दिसंबर को हर साल सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाएगा. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने रविवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 98वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

25 दिसंबर को अटल बिहारी वाजपेयी का हुआ था जन्म
वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर में हुआ था और यह दिन सुशासन दिवस के रूप में मनाया जाता है. प्रधानमंत्री मोदी ने एक ट्वीट में कहा,‘अटल जी को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि. भारत के लिए उनका योगदान अमिट है. उनका नेतृत्व और दृष्टिकोण लाखों लोगों को प्रेरित करता है.’ प्रधानमंत्री मोदी ने नयी दिल्ली स्थित वाजपेयी के समाधि स्थल ‘सदैव अटल’ जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी.

READ More...  सीएम की चेतावनी- धर्मस्थलों में लाउडस्पीकर की आवाज धीमी रहे, नियम का पालन नहीं होने पर अफसर होंगे जिम्मेदार

पीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में दी श्रद्धांजलि
पीएम मोदी ने इस साल अपने हालिया ‘मन की बात’ रेडियो कार्यक्रम में भी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए पूर्व प्रधानमंत्री को एक महान राजनेता बताया था, जिन्होंने देश को एक असाधारण नेतृत्व दिया. राष्ट्रपति मुर्मू भी वाजपेयी के समाधि स्थल पर गईं। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री पर एक फोटो प्रदर्शनी का भी उद्घाटन किया। वह यहां डॉ. आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय केंद्र में भजन संध्या में भी शामिल हुईं. उपराष्ट्रपति धनखड़ ने दिवंगत नेता को ‘सदैव अटल’ जाकर श्रद्धांजलि दी.

लोकसभा अध्यक्ष ने अटल बिहारी वाजपेयी को किया याद
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने पूर्व प्रधानमंत्री को एक ऐसे नेता के रूप में याद किया, जिनके तहत देश ने बुनियादी ढांचा और परमाणु ऊर्जा जैसे क्षेत्रों में अभूतपूर्व प्रगति हासिल की. इससे पहले, बिरला ने मोदी और अन्य गणमान्य लोगों के साथ संसद के सेंट्रल हॉल में वाजपेयी की तस्वीर पर पुष्पांजलि भी अर्पित की. इनके अलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जे पी नड्डा, राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सहित कई केंद्रीय मंत्रियों व गणमान्य हस्तियों ने भी ‘‘भारत रत्न’’ वाजपेयी को पुष्पांजलि अर्पित की.

Tags: Atal Bihari Vajpayee, Atal Bihari Vajpayee Jayanti

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)

READ More...  महागठबंधन सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार कार्यक्रम में शामिल होंगे लालू यादव, आज आएंगे पटना!