6 e0a497e0a58de0a4b0e0a588e0a482e0a4a1 e0a4b8e0a58de0a4b2e0a588e0a4ae e0a49ce0a580e0a4a4e0a4a8e0a587 e0a4b5e0a4bee0a4b2e0a587 e0a4ac
6 e0a497e0a58de0a4b0e0a588e0a482e0a4a1 e0a4b8e0a58de0a4b2e0a588e0a4ae e0a49ce0a580e0a4a4e0a4a8e0a587 e0a4b5e0a4bee0a4b2e0a587 e0a4ac 1

 नई दिल्ली.  6 बार के ग्रैंड स्लैम चैम्पियन बोरिस बेकर को दिवालियापन से जुड़े अपराध की वजह से जेल जाना पड़ेगा. उन्हें इनसॉल्वेंसी एक्ट के तहत दोषी पाए जाने के बाद ढाई साल जेल की सजा सुनाई गई है. इस महीने की शुरुआत में पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 और 3 बार के विंबलडन चैम्पियन बेकर को लंदन के साउथवार्क क्राउन कोर्ट की एक ज्यूरी ने दिवालियापन अधिनियम के तहत 4 आरोपों के लिए दोषी ठहराया था. इसमें कर्ज छुपाने और संपत्ति का खुलाने करने में नाकाम रहने से जुड़े मामले भी शामिल थे.

बोरिस बेकर को जून, 2017 में दिवालिया घोषित कर दिया गया था. इसका मतलब था कि वह कानूनी रूप से अपनी सभी संपत्तियों का खुलासा करने के लिए बाध्य थे. लेकिन बेकर ने हजारों डॉलर के फंड अपने खाते से अन्य लोगों के खाते में ट्रांसफऱ किए थे. इसमें उनकी पूर्व पत्नी बारबरा और शार्ले लिली भी शामिल थीं. इनसॉल्वेंसी सर्विस के अनुसार, उन्होंने जो संपत्ति छिपाई, उनमें 4.5 लाख यूएस डॉलर, जिसे उन्होंने तीसरे पक्षों को ट्रांसफर किया था. इसमें लीमन, जर्मनी में एक प्रॉपर्टी और ब्रेकिंग डाटा कॉरपोरेशन को 75 हजार शेयर देना शामिल है.

बेकर को ढाई साल जेल की सजा
लंदन की साउथवार्क कोर्ट में सुनवाई के दौरान बेकर अपनी पार्टनर डी कार्वाल्हो मोंटेरो के साथ विम्बलडन के बैंगनी और हरे रंग की धारीदार टाई पहन कर अदालत आए थे. जज डेबोराह टेलर ने कहा कि पूर्व टेनिस खिलाड़ी आधी सजा काटेगा. प्रेस एसोसिएशन के मुताबिक, जज ने कहा कि आपने दिवालियापन के कारण अपना करियर और प्रॉपर्टी सब गंवा दिए. आपने पश्चाताप नहीं दिखाया है, अपने अपराध को स्वीकार नहीं किया.

READ More...  T20 WC:पाकिस्तान के जीत के बाद आसिफ अली ने कहा "मैं..

बेकार ने आरोपों को खारिज किया
बेकर ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया. उन्होंने कहा कि मैंने अपनी संपत्ति को छुपा कर ट्रस्ट से जुड़े लोगों के सहयोग ही किया है. शुक्रवार को सजा की सुनवाई के दौरान, अभियोजन पक्ष की वकील रेबेका चाकले ने कहा कि बेकर ने जानबूझकर और बेईमानी से ऐसा काम किया और वो अब भी दूसरों पर आरोप लगा रहे हैं. वहीं, बेकर के वकील जोनाथन ने उनका बचाव करते हुए कहा कि बेकर ने यह पैसा एशो-आराम पर खर्च नहीं किया है. बल्कि, बच्चों को सपोर्ट करने, किराए और बाकी बिजनेस पर खर्च किया. दिग्गज टेनिस खिलाड़ी ने कोर्ट में बताया कि इस मामले के कारण उन्होंने सामाजिक अपमान सहा है और अब भविष्य में उनके पास कमाई का कोई जरिया नहीं रहेगा.

यह था पूरा विवाद
बेकर ने 2013 में एक निजी बैंक से 5 मिलियन डॉलर का कर्ज लिया था. इसके अलावा उन्होंने ब्रिटिश बिजनेसमैन से भी 1.6 मिलियन डॉलर उधार लिए थे. सुनवाई के दौरान इस दिग्गज टेनिस खिलाड़ी ने कोर्ट से कहा कि 50 मिलियन अमेरिकी डॉलर की कमाई महंगे तलाक और कर्जा चुकाने में खत्म हो गई.

बेकर ने 17 साल में विंबलडन जीता था
बेकर ने टेनिस में इतिहास रचा था, जब उन्होंने 17 साल की उम्र में विंबलडन जीता था. अगले 11 साल में उन्होंने 5 और ग्रैंड स्लैम खिताब जीते. वो संन्यास के बाद भी टेनिस कोर्ट में सक्रिय रहे. हालांकि, उनकी भूमिका बदल गई. वो नोवाक जोकोविच के कोच रहे. साथ ही उन्होंने बतौर कॉमेंटेटर भी काम किया.

READ More...  Archery World Cup Stage 2: कंपाउंड पुरुष टीम ने रजत पदक किया पक्का, महिला टीम को कांस्य से करना पड़ा संतोष

Tags: Sports news, Tennis, Tennis News

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)