amjad khan birth anniversary e0a4a1e0a588e0a4a8e0a580 e0a4ace0a4bfe0a49ce0a580 e0a4a8e0a4be e0a4b9e0a58be0a4a4e0a587 e0a4a4e0a58b e0a485e0a4ae
amjad khan birth anniversary e0a4a1e0a588e0a4a8e0a580 e0a4ace0a4bfe0a49ce0a580 e0a4a8e0a4be e0a4b9e0a58be0a4a4e0a587 e0a4a4e0a58b e0a485e0a4ae 1

हाइलाइट्स

अमजद खान का जन्म 12 नवम्बर 1940 को हुआ था.
27 जुलाई 1992 में दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया था.

मुंबई. अगर आपके सामने ‘अमजद खान’ (Amjad khan) का नाम लिया जाए तो सबसे पहले आपके सामने ‘गब्बर सिंह’ (Gabbar Singh) का चेहरा आ जाता होगा. ये किरदार था ​ही ऐसा कि अमजद का नाम आते ही ‘शोले’ का यह खतरनाक डाकू सामने आ जाता है. अमजद ने इतनी शिद्दत से इस किरदार को निभाया था कि आज भी ‘गब्बर सिंह’ फेमस है. आज अमजद खान की बर्थ एनिवर्सरी पर आइए, इस किरदार से जुड़ी कुछ बातें जानने की कोशिश करते हैं.

अमजद खान का जन्म 12 नवम्बर 1940 को हुआ था. उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई बांद्रा के सेंट एंड्रू हाई स्कूल से की थी. इसके बाद आगे की शिक्षा आर. डी. नेशनल कॉलेज से की. कॉलेज के दौरान उन्होंने थिएटर ग्रुप जॉइन किया और यहीं से एक्टिंग की शुरुआत हुई.

डैनी कर रहे थे दूसरी फिल्म
अमजद खान ने अपने कॅरियर में 132 ​फिल्मों में काम किया. सबसे ज्यादा उन्हें 1975 में आई फिल्म ‘शोले’ से सफलता मिली. यह फिल्म उनके लिए मील का पत्थर साबित हुई और उनका किरदार ‘गब्बर सिंह’ हमेशा के लिए अमर हो गया. लेकिन यदि डैनी की डेट्स फ्री होतीं तो शायद ऐसा नहीं हो पाता. सबसे पहले य​ह किरदार डैनी को दिया गया था. डैनी उस समय फिल्म ‘धर्मात्मा’ की शूटिंग कर रहे थे इसलिए उन्होंने इस फिल्म के लिए इनकार कर दिया. इसके बाद अमजद ने ये फिल्म की और पूरी फिल्मी दुनिया पर छा गए.

READ More...  सारा अली खान-कार्तिक आर्यन फिर आए साथ, दिवाली पार्टी में देखे गए दोनों- देखें PHOTO

सलीम खान का था सुझाव
डैनी के इनकार करने के बाद तेजी से फिल्म में ‘गब्बर’ के किरदार के लिए कलाकार की तलाश की जा रही थी. ऐसे में सलीम खान ने रमेश सिप्पी को अमजद का नाम सुुझाया था. सलमान खान के पिता सलीम के इस सुझाव पर विचार किया गया और फिर अमजद को रोल के लिए फाइनल किया गया. किसी ने नहीं सोचा था कि सलीम का यह सजेशन फिल्म के लिए तुरुप का पत्ता साबित होगा.

अमजद खान ने ‘शोले’ के अलावा भी कई फिल्मों में अपनी अभिनय प्रतिभा दिखाई. इनमें ‘मुकद्दर का सिकंदर’, ‘हीरालाल पन्नालाल’, ‘सीता और गीता’, ‘लावारिस’, ‘परवरिश’, ‘मिस्टर नटवरलाल’, ‘दो शिकारी’, ‘काला पानी’, ‘रॉकी’ जैसी कई फिल्में शा​मिल हैं. 27 जुलाई 1992 में दिल का दौरा पड़ने से 51 साल की उम्र में अमजद ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था.

Tags: Amjad Khan

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)