army jobs alert e0a4b8e0a587e0a4a8e0a4be e0a4aee0a587e0a482 e0a4b9e0a58be0a497e0a580 e0a49ce0a4b5e0a4bee0a4a8e0a58be0a482 e0a495e0a580

गया. बिहार (Bihar) के बोधगया (Bodhgaya) के बीएमपी-3 के ग्राउंड में अगले साल 4 से 18 फरवरी 2020 तक भारतीय सेना के लिए जवानों (Army Jawan) की बहाली की जाएगी, जिसमें दक्षिण बिहार के कुल 11 जिला के अभ्यर्थी शामिल होंगे. इन जिलों में गया, औरंगाबाद, नवादा, अरवल, जमुई, जहानाबाद, कैमूर, रोहतास, नालंदा, लखीसराय और शेखपुरा शामिल है. भर्ती प्रकिया के बारे में गया स्थित सेना भर्ती कार्यालय के निदेशक कर्नल विक्रम सैनी ने बताया कि इसके लिए 6 दिसंबर से ऑनलाइन आवेदन (Online Application) प्रक्रिया शुरू हो चुकी है. 19 जनवरी तक आवेदन किया जा सकता है.

कैसे करें आवेदन
संबंधित जिलों के अभ्यर्थी www.joinindianarmy.nic.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं. 19 जनवरी तक आवेदन लेने के बाद जिलावार लिस्ट बनेगी और 25 जनवरी तक सभी अभ्यर्थियों का एडमिट कार्ड अपलोड कर दिया जाएगा. 4 से 18 फरवरी के बीच तिथि एवं जिलावार शारीरिक परीक्षा जांच का शेड्यूल जारी होगा. इच्छुक अभ्यर्थी निर्धारित तिथि से एक दिन पहले बोधगया के बीएमपी-3 परिसर के ग्राउंड पहुंचें, जहां अगली सुबह वे शारीरिक जांच परीक्षा दे सकेंगे. इस जांच में सफल अभ्यर्थियों की लिखित परीक्षा ली जाएगी और जून 2020 तक अंतिम रूप से सफल अभ्यर्थी को प्रशिक्षण के लिए भेज दिया जाएगा.

दलालों और ठगों से रहें सावधान
सेना भर्ती कार्यालय के निदेशक कर्नल विक्रम सैनी ने News 18 के जरिए अभ्यर्थियों को दलालों और ठगों से सावधान रहने की अपील की है. सैनी ने बताया कि अभ्यर्थियों को झांसे में आने की जरूरत नहीं है. अभ्यर्थी दौड़ या लिखित परीक्षा की प्रैक्टिस के लिए किसी व्यक्ति या कोचिंग की सहायता ले सकते हैं, लेकिन इन परीक्षाओं में सफल कराने का नाम पर वे किसी तरह का पैसा खर्च न करें. कर्नल सैनी ने बताया कि अगर कोई दलाल इस तरह का दावा करे, तो इसकी सूचना तुरंत हमें दें.

READ More...  लखनऊ:-आईईटी के छात्र विवेक भारद्वाज को लंदन गूगल से मिली 1.37 करोड़ की सालाना नौकरी का पैकेज

कठिन होती है परीक्षा
सेना में जवान पद के लिए भी अब काफी कठिन परीक्षा होती है. पिछली बार 50 हजार से ज्यादा अभ्यर्थियों ने भर्ती रैली में हिस्सा लिया था, जिसमें से सिर्फ 400 का ही चयन किया गया. इसलिए बिहार के बोधगया में 4 से 18 फरवरी के बीच होने वाली भर्ती रैली के लिए आप अभी से परिश्रम शुरू कर दें. शारीरिक फिटनेस के साथ-साथ पढ़ाई के दौरान की गई मेहनत ही आपके काम आएगी.

आवासीय प्रमाणपत्र साथ लाएं
कर्नल विक्रम सोनी ने बताया कि यह दौड़ जिलावार होती है. इसमें संबंधित जिले के मूलनिवासी ही शामिल हो सकते हैं. इसलिए भर्ती रैली में आते समय आवासीय प्रमाणपत्र और अपनी पहचान से जुड़े सभी कागजात तैयार रखें. जाली प्रमाणपत्रों के आधार पर भर्ती होने के बाद अगर बाद में गलती पकड़ी गई, तो कड़ी कार्रवाई होती है.

ये भी पढ़ें –

CAA पर चिराग पासवान ने विपक्ष को घेरा, NRC पर बोले- अभी इसके बारे में कुछ नहीं पता

बिहारः पहली बार गया में होगी CM नीतीश कुमार की कैबिनेट मीटिंग, ले सकते हैं कई अहम फैसले

आपके शहर से (गया)

बिहार

बिहार

Tags: Bihar News, Gaya news

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)