badhra exit poll results 2019 e0a4abe0a482e0a4b8 e0a4b8e0a495e0a4a4e0a580 e0a4b9e0a588 e0a4a6e0a587e0a4b5e0a580e0a4b2e0a4bee0a4b2 e0a4aae0a4b0
badhra exit poll results 2019 e0a4abe0a482e0a4b8 e0a4b8e0a495e0a4a4e0a580 e0a4b9e0a588 e0a4a6e0a587e0a4b5e0a580e0a4b2e0a4bee0a4b2 e0a4aae0a4b0

नैना सिंह चौटाला (Naina Singh Chautala) राजनीति में नई नहीं हैं. 2014 में वो सिरसा लोकसभा क्षेत्र में आने वाली डबवाली विधानसभा क्षेत्र से इंडियन नेशनल लोकदल (Indian National Lok Dal) से विधायक थीं. इसी सीट पर 2009 में उनके पति अजय सिंह चौटाला (Ajay Singh Chautala) विधायक थे. पति के जेल में होने के कारण नैना ने चुनावी मैदान में कदम रखा. वो जन नायक जनता पार्टी के खेवनहार दुष्यंत चौटाला की मां हैं. वो पूर्व उप प्रधानमंत्री देवीलाल के परिवार से ताल्लुक रखती हैं. इस परिवार से पहली बार कोई महिला विधानसभा में पहुंची हैं. एग्जिट पोल की मानें तो नैना चौटाला के सामने इस बार कड़ी चुनौती है और सीट फंस सकती है.

बताया जाता है कि नैना चौटाला अपने समय में अच्छी निशानेबाज भी रही हैं. शूटिंग में उन्होंने इंटर यूनिवर्सिटी में शूटिंग टीम का प्रतिनिधित्व किया था. अब वो सियासत के मैदान में एक तीर से दो निशाने लगा रही हैं. पहला निशाना अभय चौटाला के परिवार पर है तो दूसरा सत्ताधारी पार्टी पर. देखना ये है कि वो इसमें कितना कामयाब होती हैं. नैना चौटाला का जन्म हिसार जिले के आदमपुर क्षेत्र के गांव दड़ौली में हुआ. उनके पिता का नाम भीम सिंह गोदारा और माता का नाम कांता देवी है.

एनसीसी कैडेट भी रही हैं नैना चौटाला
नैना सिंह ने पहली से सातवीं तक की शिक्षा हिसार के नूर निवास हाई स्कूल से हासिल की. इसके बाद एफसी स्कूल हिसार में दाखिला ले लिया. दसवीं के बाद नैना ने एफसी कालेज में दाखिला लिया. यहीं से उन्होंने ग्रेजुएशन किया. वह कालेज में एनसीसी कैडेट रही हैं.

READ More...  Viral: ग्रामीणों ने घर में घुसे विशालकाय अज़गर को गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतारा

इस बार बदल गई है सीट
साल 2014 में वो डबवाली से इनेलो विधायक थीं. इस बार जन नायक जनता पार्टी (जेजेपी) ने उन्हें बाढ़ड़ा सीट से उम्मीदवार बनाया है. यह पार्टी उनके बेटे ने बनाई है. बाढ़ड़ा में नैना सिंह चौटाला के सामने बीजेपी के सुखविंद्र मांडी, कांग्रेस के रणबीर महेंद्रा और इनेलो ने विजय पंचगामा को मैदान में उतारा है.

यह संयोग ही है कि 2014 में भी उनके सामने परिवार का एक व्यक्ति खड़ा था और इस बार भी इनेलो ने उनके खिलाफ प्रत्याशी उतारने से परहेज नहीं किया. 2014 में जब वो डबवाली से चुनाव लड़ रही थीं तो कांग्रेस ने उनके चाचा ससुर डॉ. केवी सिंह को प्रत्याशी बनाया था.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी | आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी |

FIRST PUBLISHED : October 21, 2019, 19:23 IST

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)