bharat jodo yatra e0a495e0a4b6e0a58de0a4aee0a580e0a4b0 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4 e0a49ce0a58be0a59ce0a58b e0a4afe0a4be
bharat jodo yatra e0a495e0a4b6e0a58de0a4aee0a580e0a4b0 e0a4aee0a587e0a482 e0a4ade0a4bee0a4b0e0a4a4 e0a49ce0a58be0a59ce0a58b e0a4afe0a4be 1

हाइलाइट्स

BJP का आरोप कि भारत जोड़ो यात्रा ले जाकर घाटी में माहौल खराब करना चाहते हैं राहुल गांधी
उन्होंने कहा कि राहुल कहीं भी जा सकते हैं क्योंकि आज कश्मीर में पथराव की घटनाएं नहीं हो रही हैं

नई दिल्ली. कांग्रेस द्वारा कश्मीर में तिरंगा फहराने की घोषणा के बीच केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस बात पर आश्चर्य जताया कि क्या राहुल गांधी ऐसे समय में घाटी में माहौल खराब करने जाना चाहते हैं जब जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 और 35ए समाप्त होने के बाद हालात बेहतर हुए और रिकॉर्ड संख्या में पर्यटक आए हैं.

सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने ‘‘पीटीआई भाषा’’ से खास बातचीत में कहा, ‘‘ आज जम्मू-कश्मीर में कोई भी, कहीं भी तिरंगा फहरा सकता है, अब कोई रोक नहीं है क्योंकि नरेंद्र मोदी सरकार ने अनुच्छेद 370 और 35ए को समाप्त कर दिया है. ’’ उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में इस वर्ष रिकॉर्ड संख्या में, 1.60 करोड़ पर्यटक आए हैं. ठाकुर ने कहा, ‘‘ आज देश के कोने कोने से पर्यटक जम्मू-कश्मीर आ रहे हैं और वे वहां कहीं भी जा सकते हैं. आज वहां पथराव की घटनाएं नहीं हो रही हैं, आतंकवादी मारे जा रहे हैं. इससे पता चलता है कि जम्मू-कश्मीर में हालात सुधरे हैं.’’

केंद्रीय मंत्री ने सवाल किया, ‘‘ क्या राहुल गांधी वहां माहौल खराब करना चाहते हैं ? क्या उनकी इच्छा वहां वातावरण खराब करने की है?’’ सितंबर माह में कन्याकुमारी से शुरू हुई राहुल गांधी की ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ अगले माह कश्मीर में संपन्न होगी. भाजपा नेता अनुराग ठाकुर ने राहुल को 1992 में मुरली मनोहर जोशी और नरेंद्र मोदी द्वारा ‘‘एकता यात्रा’’ निकाले जाने तथा जम्मू-कश्मीर के लाल चौक पर तिरंगा फहराने की घटना की याद दिलाई.

READ More...  राजस्थान संकट में गहलोत का नहीं था हाथ, कांग्रेस पर्यवेक्षकों ने दी क्लीन चिट, क्या अब भी बन सकते हैं अध्यक्ष?

उन्होंने कहा, ‘‘ तब (1992 में) वहां आतंकवादी हमले, गोलीबारी की घटनाएं हो रही थीं और इसका (यात्रा का) बहुत विरोध भी किया गया था… और यह स्थिति तब थी जब कांग्रेस की सरकार थी.’’ अनुराग ठाकुर ने कहा कि 2011 में जब वह भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष थे तब उन्होंने कोलकाता से कश्मीर तक तिरंगा यात्रा निकाली थी और यह केवल 11 वर्ष पुरानी बात है.

उन्होंने कहा, ‘‘ तब केंद्र में कांग्रेस की ही गठबंधन सरकार थी और जम्मू-कश्मीर में कांग्रेस-नेशनल कॉन्फ्रेंस की सरकार ने तिरंगा यात्रा का विरोध किया था. मुझे, लोकसभा एवं राज्यसभा में प्रतिपक्ष के तत्कालीन नेताओं सुषमा स्वराज और अरुण जेटली को जेल में डाल दिया गया था.’’ ठाकुर ने कहा कि तब जम्मू-कश्मीर में तिरंगा फहराना मुश्किल था क्योंकि तब अनुच्छेद 370 और 35ए लागू था. ‘‘लेकिन आज मोदी सरकार में जम्मू-कश्मीर की स्थिति में उल्लेखनीय सुधार हुआ है और वहां कोई भी तिरंगा फहरा सकता है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ मेरा तो इनसे सवाल है कि क्या वे अनुच्छेद 370 और 35ए खत्म करने पक्ष में हैं या विरोध में हैं? ये जम्मू-कश्मीर में शांति के पक्ष में हैं या विरोध में.’’ ठाकुर ने पूछा कि ये (राहुल गांधी) अपना कौन एजेंडा लेकर जा रहे हैं और क्या वहां का शांतिपूर्ण माहौल खराब करना चाहते हैं?

गौरतलब है कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की ‘‘भारत जोड़ो यात्रा’’ सात सितंबर को कन्याकुमारी से शुरू हुई थी. अब तक भारत जोड़ो यात्रा के 110 दिन हो चुके हैं और यह तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और दिल्ली से गुजर चुकी है. कांग्रेस पार्टी की इस यात्रा के समापन के अवसर पर श्रीनगर में तिरंगा फहराने की योजना है.

READ More...  गोवा में गौशाला बनाने के लिए 10 करोड़ का प्रावधान

Tags: Anurag thakur, Bharat Jodo Yatra, BJP, Congress, Jammu and kashmir, Rahul gandhi

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)