corona e0a495e0a58b e0a4b2e0a587e0a495e0a4b0 e0a4b0e0a4bee0a49ce0a4b8e0a58de0a4a5e0a4bee0a4a8 e0a485e0a4b2e0a4b0e0a58de0a49f e0a487

हाइलाइट्स

कोरोना की नई वेव को लेकर राजस्थान की तैयारियां शुरू, स्वास्थ्य सचिव ने ली बैठक
कोरोना की पहचान के लिए होगी जिनोम सिक्वेंसिंग, प्रदेश में सैम्पलिंग बढ़ाने के भी निर्देश
नए वेरिएंट की इस दहशत के बीच सीरो सर्वे कराने वाला राजस्थान होगा देश का पहला राज्य

जयपुर. कोरोना (Corona) की फिर से शुरू हुई दहशत के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग ने बड़ा कदम उठाया है. इम्यूनिटी (Immunity) जांचने के लिए क्विज सिरो सर्वे कराने वाला संभवत राजस्थान पहला राज्य बन गया है. स्वास्थ्य विभाग ने सिरो सर्वे करने की जिम्मेदारी एसएमएस मेडिकल कॉलेज (SMS Medical Collage) की माइक्रोबाइलॉजी विभाग को सौंपी है. विभाग की एचओडी डॉ.भारती मल्होत्रा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने क्विक सिरो सर्वे करने के निर्देश दिए हैं. इस लिहाज के पहले जयपुर बेस्ड सर्वे होगा.

उन्होंने बताया कि हैल्थ वर्कर्स और आम लोगों में एंटी बॉडी जांची जाएगी. इसके बाद प्रदेशभर में सर्वे होगा. जयपुर बेस्ड सर्वे की रिपोर्ट अगले 15 दिनों में स्वास्थ्य विभाग को सौंप दी जाएंगी. उन्होंने बताया कि एंटीबॉडी स्टेटस जांचने के बाद आगे की प्लानिंग पर निर्णय लेने में मदद मिलेगी. गौरतलब है कि ओमिक्रॉन के वक्त भी सिरो सर्वे किया गया था तब 90 फीसदी लोगों में एंटी बॉडी मिली थी.

स्कूली छात्रा का अपहरण कर 5 युवकों ने किया गैंगरेप, पीड़िता हुई बेहोश, 3 को मौके पर ही पकड़ा

आपके शहर से (जयपुर)

राजस्थान
जयपुर

राजस्थान
जयपुर

प्रदेश में तीन लैब में है जिनोम सिक्वेसिंग
दरअसल, कोरोना केसेज में कमी आने के कारण जिनोम सिक्वेसिंग कम कर दी गई थी. लेकिन अब नए वेरिएंट के आने के बाद 100 फीसदी सैम्पल कि जिनोम सिक्वेसिंग की जाएगी. जिनोम सिक्वेसिंग में अभी तक नया वेरिएंट सामने नहीं आया है. उन्होंने बताया कि राजस्थान में 3 लैब में जिनोम सिक्वेसिंग की व्यवस्था है, जिनमें एसएमएस मेडिकल कॉलेज, एम्स जोधपुर और एसएन मेडिकल कॉलेज शामिल हैं. कोटा में भी जल्द जिनोम सिक्वेसिंग शुरू होगी.

प्रदेश में सैम्पलिंग बढ़ाने के भी निर्देश दिए.
दूसरी ओर कोरोना की नई वेव को लेकर राजस्थान अलर्ट मोड पर है. स्वास्थ्य सचिव ने कोरोना की तैयारियों को लेकर आला अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की. बैठक में कोरोना केसेज, वैक्सीनेशन, सैम्पलिंग, ऑक्सीजन प्लांट, आईसीयू समेत अन्य व्यवस्थाओं को लेकर समीक्षा की गई. बैठक में स्वास्थ्य सचिव डॉ.पृथ्वी ने राजस्थान में पॉजीटिव आने वाले सभी केसेज की जिनोम सिक्वेंसिंग करने और प्रदेश में सैम्पलिंग बढ़ाने के भी निर्देश दिए हैं.

कॉवैक्सीन की 9 लाख डोज उपलब्ध
स्वास्थ्य सचिव डॉ.पृथ्वी ने बताया कि कोरोना के कम केसेज आने पर प्रिकॉशन डोज कम लगे हैं. ऐसे में हैल्थ वर्कर्स को प्रिकॉशन डोज लगाने के निर्देश दिए हैं. राजस्थान में फिलहाल कॉवैक्सीन की 9 लाख डोज उपलब्ध हैं, लेकिन कोविशील्ड के डोज नहीं हैं. ऐसे में भारत सरकार से बात की जाएगी. उन्होंने बताया कि राजस्थान पूरी तरह से तैयार है, लेकिन आम लोगों की भी जागरुक रहने की भी जरूरत है.

Tags: Corona, Corona 19, Corona Active Case, COVID 19, Covid 19 Alert, Rajasthan news in hindi

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)

READ More...  'अग्निपथ योजना' पर विपक्ष की फजीहत! कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने बयान पर नहीं किया साइन