covid 19 e0a495e0a58de0a4b0e0a4bfe0a4b8e0a4aee0a4b8 e0a494e0a4b0 e0a4a8e0a48f e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a4aae0a4b0 e0a495e0a4b9e0a580e0a482
covid 19 e0a495e0a58de0a4b0e0a4bfe0a4b8e0a4aee0a4b8 e0a494e0a4b0 e0a4a8e0a48f e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a4aae0a4b0 e0a495e0a4b9e0a580e0a482 1

नई दिल्ली. चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में आए तेज़ उछाल को देखते हुए भारत सरकार ने भी इस महामारी की रोकथाम के लिए उपाय शुरू कर दिए हैं. इसी कड़ी में केंद्र की ओर से सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को क्रिसमस और नए साल के जश्न के दौरान सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि किसी भी जगह ज्यादा भीड़भाड़ न हो, इनडोर कार्यक्रमों में पर्याप्त वेंटिलेशन हो और लोग सोशल डिस्टेंसिंग जैसे कोविड-19 अनुकूल व्यवहार का पालन करें.

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखे एक पत्र में कहा, ‘आने वाले त्योहारी सीज़न और नए साल के जश्न को ध्यान में रखते हुए, ‘टेस्ट-ट्रैक-ट्रीट-टीकाकरण’ और कोविड अनुकूल आचरण जैसे मास्क लगाना, हाथों को धोना और सोशल डिस्टेंसिंग आदि के अनुपालन पर ध्यान देने की जरूरत है, ताकि बीमारी को फैलने से रोका जाए.’

गोवा
छुट्टियां मनाने के लिए मशहूर गोवा में क्रिसमस और नए साल से पहले विदेशी पर्यटकों की संख्या में सबसे ज्यादा उछाल देखा जा रहा है. मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत द्वारा महामारी संबंधी प्रतिबंध नहीं लगाने के फैसले की वजह से राज्य के सभी होटल लगभग तरह फुल हो चुके हैं. मुख्यमंत्री सावंत ने शुक्रवार को स्पष्ट किया कि राज्य 2 जनवरी, 2023 तक महामारी संबंधी कोई प्रतिबंध नहीं लगाएगा. हालांकि इसके साथ ही उन्होंने लोगों से खुद ही सावधानी बरतने की अपील की.

हिमाचल प्रदेश
छुट्टियों के लिए एक और पसंदीदा जगह हिमाचल प्रदेश को भारी संख्या में पर्यटकों के पहुंचने की उम्मीद है. राज्य के ऊपरी क्षेत्रों और लाहौल स्पीति में क्रिसमस के मौके पर, जबकि शिमला, मनाली और दूसरी ऊंची जगहों पर 29 और 30 दिसंबर को बर्फबारी का अनुमान है. इस बीच, स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को कोविड-अनुकूल व्यवहार का पालन करने के लिए परामर्श जारी किया.

पर्यटन विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, पिछले साल 56.37 लाख के मुकाबले 30 नवंबर तक 1.39 करोड़ पर्यटक हिमाचल प्रदेश आए. बता दें कि पर्यटन और इससे जुड़े उद्योग को कोविड महामारी के दौरान भारी नुकसान हुआ था और वर्ष 2020 में पर्यटकों की आमद 2019 के मुकाबले 81 प्रतिशत कम हो गई थी. पहाड़ी राज्य में पर्यटकों का आगमन 2019 में 1.72 करोड़ था, जबकि 2020 में यह आंकड़ा घटकर महज 32.13 लाख पर पहुंच गया. वहीं वर्ष 2021 में 56.37 लाख लोग यहां पहुंचे थे.

READ More...  खुशखबरी! कानपुर से काशी समेत कई जगह के लिए शुरू होगी फ्लाइट, बंगाल-गुजरात पहुंचाना भी होगा आसान

ये भी पढ़ें- कोरोना के खिलाफ जंग में चीन से आखिर कहां हुई गलती, भारत में कैसी है स्थिति? एक्सपर्ट ने बताया

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने पर्यटन और संबद्ध विभागों को पर्यटकों की सुविधा पर ध्यान देने के लिए कहा है. सुक्खू ने कहा, ‘पर्यटक हमारे मेहमान हैं और हमें उनके लिए सर्वोत्तम संभव आतिथ्य सुनिश्चित करना चाहिए.’ उन्होंने अधिकारियों को सभी जिलों में पर्याप्त व्यवस्था करने और यातायात के सुचारू प्रवाह को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया. इसके साथ ही उन्होंने पर्यटकों से एहतियात के तौर पर फेसमास्क लगाने का भी आग्रह किया.

उत्तराखंड
उत्तराखंड में नैनीताल, मसूरी सहित कई जगह पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है. इस साल कोविड से जुड़े प्रतिबंध हटने से होटल और रेस्तरां में पुराने दिनों जैसी भीड़ दिखने लगी है. वहीं कॉर्बेट और राजाजी टाइगर रिजर्व में फॉरेस्ट रेस्ट हाउस और बंगलों में भी क्रिसमस और नए साल के मौके मेहमानों की भीड़ दिखने लगी है.

ये भी पढ़ें- दिल्ली-मुंबई के सीवेज में मिला Covid RNA, जानिए कैसे वेस्टवॉटर की जांच रोक सकेगी महामारी

उत्तराखंड में शुक्रवार को कोरोना वायरस के तीन नए मामले सामने आए. इनमें से दो देहरादून से और एक मरीज रुद्रप्रयाग से है. इस बीच उत्तराखंड में शुक्रवार को एंटी-कोविड वैक्सीन की बूस्टर खुराक देने का अभियान शुरू हुआ है. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए वैक्सीनेशन कैंप का दौरा किया और पात्र लोगों से अपील की कि अगर उन्होंने पहले वैक्सीन नहीं लगवाई है तो वे खुद आकर टीका लगवा लें.

केरल
केरल सरकार ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में कोविड मॉनिटरिंग सेल को फिर से शुरू कर दिया गया है. राज्य की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि वर्तमान में राज्य में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बहुत कम है. अगर दो हफ्तों के मामलों को लिया जाए तो दैनिक मामले 100 से कम थे और अस्पतालों में बहुत कम मरीज इलाज के लिए हैं. जॉर्ज ने कहा कि चूंकि क्रिसमस और नया साल नजदीक है, ऐसे में लोगों को यात्रा के दौरान अतिरिक्त सतर्कता बरतनी चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने सभी से सार्वजनिक स्थानों पर और सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करते समय मास्क पहनने का आग्रह किया. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सभी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि कोविड प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन हो.

READ More...  सुवेंदु अधिकारी का बंगाल सरकार पर बड़ा आरोप, बोले- मनरेगा को मनी माइनिंग मशीनरी में बदला, PM को लिखा पत्र

कर्नाटक
कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने कहा है कि केंद्र ने राज्यों से प्रमुख गतिविधियों पर कड़ी निगरानी रखने को कहा है. सुधाकर ने नए साल को लेकर पाबंदियों का जिक्र करते हुए कहा, ‘कोई भी गतिविधि जिसमें हजारों लोग शामिल होते हैं, एक बड़ा जमावड़ा होता है. इसलिए, हमें बारीकी से निगरानी करने की आवश्यकता है और लोगों को कोविड के अनुकूल व्यवहार का पालन करने के लिए भी कहना चाहिए, क्योंकि यह वक्त अपने सुरक्षा कवच को ढीला छोड़ने का नहीं है.’

उत्तर प्रदेश
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कोविड की रोकथाम के लिए राज्य की तैयारियों की समीक्षा की. उन्होंने कहा, ‘हालांकि अभी राज्य में स्थिति पूरी तरह से सामान्य है, फिर भी हमें सतर्क रहना होगा… यह घबराने का नहीं बल्कि सतर्क और सावधान रहने का समय है.’

वहीं नोएडा पुलिस ने शुक्रवार को क्रिसमस और नए साल से पहले सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए शॉपिंग मॉल और बार के संचालकों के साथ बैठक की और उनसे त्योहारी सीजन के दौरान सतर्कता तेज करने को कहा.

ओडिशा
ओडिशा सरकार ने नागरिकों को क्रिसमस और नए साल के दौरान मास्क पहनने जैसे कोविड-19 अनुकूल व्यवहार का पालन करने के लिए एक नई सलाह जारी की है. कोविड-19 की मौजूदा स्थिति को लेकर एक उच्च-स्तरीय बैठक के बाद यह एडवाइजरी जारी की गई. इसमें राज्य प्रशासन ने लोगों से भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचने और मास्क का इस्तेमाल करने, सामाजिक दूरी बनाए रखने और लक्षण पाए जाने पर जांच कराने को कहा.

READ More...  जाट आरणक्षण आंदोलनः यशपाल मलिक और खाप पंचायतों के बीच हुई सुलह

दिल्ली
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, जिन्होंने कोरोना वायरस के BF.7 वेरिएंट के कारण मामलों में उछाल के बीच, कोविड की स्थिति पर एक आपात बैठक की. इस बैठक के बाद उन्होंने कहा कि दिल्ली में अब तक इस वेरिएंट का पता नहीं चला है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कोरोना के मामलों में किसी भी संभावित उछाल से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

पश्चिम बंगाल
राज्य के स्वास्थ्य मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने शुक्रवार को कहा कि पश्चिम बंगाल कोविड-19 से जुड़े किसी भी हालात से निपटने के लिए तैयार है. भट्टाचार्य ने कहा, ‘राज्य सरकार सतर्क है और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है.’ उन्होंने कहा, ‘हमें यह भी देखने की जरूरत है कि लोगों में इसे लेकर कोई घबराहट न हो. हमारे पास पर्याप्त संख्या में बेड और आईसीयू उपलब्ध हैं.’ (भाषा इनपुट के साथ)

Tags: Corona Alert, Coronavirus Cases In India, Covid-19 Case

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)