g20 summit e0a4aae0a580e0a48fe0a4ae e0a4aee0a58be0a4a6e0a580 e0a494e0a4b0 e0a49ce0a58b e0a4ace0a4bee0a487e0a4a1e0a4a8 e0a495e0a580 e0a4b9
g20 summit e0a4aae0a580e0a48fe0a4ae e0a4aee0a58be0a4a6e0a580 e0a494e0a4b0 e0a49ce0a58b e0a4ace0a4bee0a487e0a4a1e0a4a8 e0a495e0a580 e0a4b9 1

हाइलाइट्स

जी20 समिट में हिस्सा लेने पहुंचे पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने की समीक्षा बैठक.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने हाथ मिलाया.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अन्य देशों के नेताओं से मुलाकात की.

बाली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने उभरती प्रौद्योगिकियों तथा कृत्रिम बुद्धिमत्ता सहित अन्य क्षेत्रों में भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी की स्थिति की मंगलवार को समीक्षा की. एक अन्य बैठक में, प्रधानमंत्री ने इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो के साथ भी चर्चा की. समझा जाता है कि इंडोनिशिया के बाली शहर में आयोजित जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर अपनी बैठक के दौरान मोदी और बाइडन ने रूस-यूक्रेन युद्ध और उसके प्रभावों के बारे में भी चर्चा की.

विदेश मंत्रालय के बयान में हालांकि सिर्फ यह कहा गया है कि दोनों नेताओं ने अपनी बैठक के दौरान मौजूदा वैश्विक एवं क्षेत्रीय घटनाक्रम पर चर्चा की। बयान के अनुसार, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जोसेफ आर. बाइडन ने बाली में जी-20 नेताओं की शिखर बैठक से इतर मुलाकात की.’ बयान में कहा गया है, ‘दोनों नेताओं ने उभरती प्रौद्योगिकियों, एडवांस्ड कंप्यूटिंग, कृत्रिम बुद्धिमत्ता जैसे भविष्योन्मुखी क्षेत्रों में प्रगाढ़ होते सहयोग सहित भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी की समीक्षा की.’

पीएम मोदी ने निरंतर सहयोग के लिए बाइडन का किया धन्यवाद
विदेश मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने में निरंतर सहयोग करने के लिए राष्ट्रपति बाइडन का शुक्रिया अदा किया. बयान में कहा गया है, ‘उन्होंने विश्वास जताया कि भारत की जी-20 अध्यक्षता के दौरान दोनों देश करीबी समन्वय जारी रखेंगे.’ इंडोनेशियाई और अमेरिकी नेताओं के साथ अलग-अलग बैठकों पर, विदेश मंत्रालय के अनुसार मोदी ने कहा कि भारत जी-20 की अपनी अध्यक्षता के दौरान अन्य विकासशील देशों को आवाज देगा. बाली शिखर सम्मेलन के बाद भारत जी-20 की अध्यक्षता करेगा.

READ More...  'दवाई के पत्ते' पर शादी का कार्ड, तमिलनाडु के दूल्हे की क्रिएटिविटी पर घूम गया लोगों को सिर

बाइडन ने इंडोनेशिय की तारीफ की
बयान में कहा गया है कि बाइडन ने जी-20 की अध्यक्षता के लिए इंडोनेशिया की सराहना की और वह भारत की अध्यक्षता के तहत जी-20 के कार्य का समर्थन जारी रखने को लेकर उत्सुक हैं. विदेश मंत्रालय के अनुसार, दोनों नेताओं ने ‘क्वाड’ और ‘आई2यू2’ जैसे नये समूहों में भारत तथा अमेरिका के करीबी सहयोग पर संतोष जताया. ज्ञात हो कि क्वाड समूह के सदस्य देश भारत, अमेरिका, आस्ट्रेलिया और जापान हैं, जबकि आई2यू2 समूह में भारत, अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात और इजराइल शामिल हैं।

विदेश मंत्रालय ने मोदी-बाइडन की मुलाकात को बताया ‘उपयोगी’
इस बीच, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने मोदी-बाइडन मुलाकात को ‘उपयोगी’ बताया. बागची ने एक ट्वीट में कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के बीच जी-20 शिखर बैठक से इतर उपयोगी चर्चा हुई. दोनों नेताओं ने भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी को प्रगाढ़ बनाने तथा क्वाड, आई2यू2 जैसे समूहों में करीबी सहयोग जारी रखने की सराहना की. दोनों ने जी-20 के दौरान करीबी सहयोग बनाये रखने पर सहमति जतायी.’

चीन के राष्ट्रपति से पीएम मोदी ने की मुलाकात
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने मंगलवार को यहां जी-20 शिखर सम्मेलन के एक कार्यक्रम में हाथ मिलाया. प्रधानमंत्री ने कई अन्य नेताओं से भी मुलाकात की लेकिन सबसे ज्यादा चिनफिंग के साथ मुलाकात ने सबका ध्यान खींचा है. जी-20 में अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, जापान, दक्षिण कोरिया, मैक्सिको, रूस, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, ब्रिटेन, अमेरिका और यूरोपीय संघ शामिल हैं.

READ More...  शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, टीकाकरण में साधु-संतों को प्राथमिकता दी जाए

Tags: G20 Summit, Joe Biden, PM Modi

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)