garhmukteshwar assembly seat e0a4b8e0a4aae0a4be e0a495e0a587 e0a49ce0a4ace0a4a1e0a4bce0a587 e0a4b8e0a587 e0a4ace0a580e0a49ce0a587e0a4aae0a580
garhmukteshwar assembly seat e0a4b8e0a4aae0a4be e0a495e0a587 e0a49ce0a4ace0a4a1e0a4bce0a587 e0a4b8e0a587 e0a4ace0a580e0a49ce0a587e0a4aae0a580

हापुड़. गढ़मुक्तेश्वर विधानसभा सीट उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में आती है. वर्तमान में इस सीट से विधायक बीजेपी के कमल सिंह मलिक हैं. उन्होंने बसपा के प्रशांत चौधरी को 35294 वोटों के अंतर से मात दी थी.  कमल मलिक को 91,086 वोट, जबकि दूसरे नंबर पर रहे बसपा के प्रशांत चौधरी को 55,792 वोट मिले थे. वहीं सपा उम्मीदवार मदन चौहान को 48,810 वोट से संतुष्ट होना पड़ा था. गढ़मुक्तेश्वर विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या लगभग साढ़े 3 लाख है.

गंगा नदी के किनारे बसा गढ़मुक्तेश्वर शहर का इतिहास शानदार रहा है. यह शहर पहले गढ़वाल राजाओं की राजधानी था, लेकिन बाद में इस पर पृथ्वीराज चौहान का अधिकार हो गया. विकास की दृष्टि से गढ़मुक्तेश्वर सबसे पिछड़ी तहसील मानी जाती है, किन्तु सांस्कृतिक दृष्टि से अत्यंत महत्त्वपूर्ण है. यहां कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर गंगा स्नान पर्व उत्तर भारत का सबसे बड़ा मेला माना जाता है. काशी, प्रयाग, अयोध्या आदि तीर्थों की तरह ‘गढ़ मुक्तेश्वर’ भी पुराण उल्लिखित तीर्थ है. शिवपुराण के अनुसार ‘गढ़ मुक्तेश्वर’ का प्राचीन नाम ‘शिव वल्लभ’ (शिव का प्रिय) है.

यहां का मूढ़ा उद्योग (बांस के कमची और मूज के सुतली से बना बैठने का गोलनुमा मचिया) भी काफी प्राचीन है. यहां के बने मूढे़ कई देशों में निर्यात किये जाते हैं. गढ़मुक्तेश्वर विधानसभा क्षेत्र में मुस्लिम मतदाताओं की संख्या सबसे ज्यादा है. इसके बाद जाटव, ठाकुर, गुर्जर, ब्राह्मण, यादव समेत अन्य जातियां आती हैं. देखना होगा कि 2022 के चुनाव में यहां का मतदाता किस पार्टी के उम्मीदवार को विधानसभा भेजने का मन बनाता है.

READ More...  Uttarakhand News: Uttarkashi पर भी मंडराया ख़तरा, ज़मीन धंसने से दहशत में लोग। Hindi News।

Tags: UP Assembly Election News, UP Polls

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)