govt employees transfer e0a4b9e0a4bfe0a4aee0a4bee0a49ae0a4b2 e0a4aee0a587e0a482 e0a487e0a4a8 3 e0a485e0a4abe0a4b8e0a4b0e0a58be0a482 e0a495

शिमला. हिमाचल प्रदेश में बीती सरकार भाजपा सरकार (BJP Govt) पर तबादलों वाली सरकार के अक्सर आरोप लगते रहते थे. सरकारी कर्मचारियों पर तबादलों के रूप में सरकारी चाबुक चलता रहा था. मंत्री और विधायकों पर तबादलों को लेकर हस्तक्षेप के मामले भी सामने आए थे. अब सीएम सुक्खविंदर सिंह सुक्खू (Sukhvinder Singh Sukhu) ने ट्रांसफर को लेकर एक खाका तैयार किया है.

दरअसल, सीएम ऑफिस में मुख्यमंत्री के विश्वसनीय अधिकारियों की एक टीम तैयार की गई है. सीएम के पास जाने से पहले फाइलें इन अधिकारियों से होकर जाएंगी. इनमें भी कार्य का बंटवारा कर दिया गया है.

आईएएस और एचएएस अधिकारियों  (IAS-HAS Officer) की ट्रांसफर से जुड़े मसलों की फाइल मुख्यमंत्री के स्पेशल सेक्रेटरी (होम एंड विजिलेंस और डायरेक्टर विजिलेंस) राजेश्वर गोयल को पास जाएगी, फिर मुख्यमंत्री से चर्चा कर फैसला होगा.  एजुकेशन डिपार्टमेंट से जुड़े मामलों की फाइल ओएसडी-टू-सीएम गोपाल शर्मा मुख्यमंत्री के समक्ष रखेंगे इन दोनों विभागों के अतिरिक्त अन्य सभी मामलों की फाइलें पीपीएस-टू-सीएम विवेक भाटिया ही मुख्यमंत्री से साइन करवाएंगे.

आपके शहर से (शिमला)

हिमाचल प्रदेश
शिमला

हिमाचल प्रदेश
शिमला

जयराम सरकार में खूब हुए थे तबादले

जयराम सरकार में सरकारी कर्मचारियों के ट्रांसफर का बड़ा मुद्दा था. पूर्व केबिनेट मंत्री महेंद्र सिंह का एक वीडियो भी सामने आया था, जिसमें वह सरकारी कर्मी को ट्रांसफर की धमकी दे रहे थे. इसके अलावा, शिक्षा विभाग में बड़े पैमाने पर ट्रांसफर को लेकर तत्कालीन शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज खासे परेशान हुए थे.

जब जोइया मामा नारा लगाने पर गिरी थी गाज

बीती सरकार में सरकारी कर्मियों ने ओपीएस मुद्दा पर कई बार आंदोलन किए थे. शिमला में एक आंदोलन के दौरान कुछ कर्मचारियों ने जोइया मामा का नारा लगाया था. इस पर उनका तबादला दूर दराज के इलाकों में कर दिया गया था. इस मामले ने काफी तूल पकड़ा था.

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)

READ More...  आतंकियों के सफाए की तैयारी में विलेज डिफेंस गार्ड, सेना ने के सपोर्ट से ऑपरेशन एरिया डोमिनेशन