gst e0a4b8e0a58de0a4b2e0a588e0a4ac e0a4aee0a587e0a482 e0a4ace0a4a6e0a4b2e0a4bee0a4b5 e0a4aae0a4b0 e0a4aee0a482e0a4a4e0a58de0a4b0
gst e0a4b8e0a58de0a4b2e0a588e0a4ac e0a4aee0a587e0a482 e0a4ace0a4a6e0a4b2e0a4bee0a4b5 e0a4aae0a4b0 e0a4aee0a482e0a4a4e0a58de0a4b0 1

नई दिल्‍ली. जीएसटी काउंसिल (GST Council) द्वारा टैक्स दरों को युक्तिसंगत बनाने और कर ढांचे की विसंगतियों को दूर कर राजस्व बढ़ाने के उपाय सुझाने के लिए बनाए गए मंत्रिसमूह (GoM) की शुक्रवार को हुई बैठक में जीएसटी स्‍लैब में बदलाव और जीएसटी को युक्तिसंगत बनाने पर आम राय नहीं बन सकी. कुछ सदस्‍यों ने स्‍लैब और जीएसटी दरों मे बदलाव का विरोध किया. बता दें कि कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बसवराज बोम्‍बई की अगुवाई वाले मंत्रिसमूह को अपनी रिपोर्ट जीएसटी काउंसिल की अगली बैठक से पहले देनी है. यह बैठक 28 और 29 जून को श्रीनगर में होगी.

न्यूज एजेंसी भाषा ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि आज की बैठक में आम सहमति नहीं बनने पर अब मंत्रियों का समूह जीएसटी काउंसिल को अपनी पिछली बैठक में बनी सर्वसम्मति पर एक स्थिति रिपोर्ट पेश करेगा. जीओएम की पिछली बैठक 20 नवंबर 2021 को हुई थी. यही नहीं जीओएम अपनी अंतिम रिपोर्ट जमा करने के लिए समय बढ़ाने की मांग भी करेगा.

ये भी पढ़ें- म्यूचुअल फंड निवेशकों के लिए नॉमिनेशन या ऑप्ट आउट फॉर्म भरना हुआ अनिवार्य, सेबी ने लागू किया नया नियम

जीएसटी काउंसिल की बैठक 28-29 जून को श्रीनगर में

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में जीएसटी काउंसिल की बैठक 28 और 29 जून को श्रीनगर में होने वाली है. जीएसटी परिषद की बैठक में भी कर दरों के मुद्दों को उठाया जाएगा. परिषद ने पिछले साल कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई की अध्यक्षता में राज्य के मंत्रियों के एक सात सदस्यीय समिति का गठन किया था, जो कर दरों को युक्तिसंगत बनाकर राजस्व बढ़ाने के तरीके सुझाएगा. मंत्रिसमूह में बिहार, यूपी, राजस्‍थान, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, गोवा और केरल शामिल हैं.

READ More...  रेस्टोरेंट सर्विस चार्ज पर केंद्र सरकार की सख्ती, NRAI को नहीं वसूलने को कहा

फिलहाल जीएसटी के 4 स्‍लैब हैं

जीएसटी के तहत टैक्स के 4 स्लैब हैं. इसमें कुछ जरूरी वस्तुओं पर छूट है या 5 फीसदी की दर से सबसे कम टैक्स लगता है जबकि सर्वाधिक 28 फीसदी टैक्स आरामदायक और समाज के नजरिये से अहितकर वस्तुओं पर लगाया जाता है. दो अन्य स्लैब 12 फीसदी और 18 फीसदी हैं. इसके अलावा 28 फीसदी जीएसटी के दायरे में आने वाले सामान पर सेस भी लगाया जाता है.

ये भी पढ़ें- Bank Holiday : जून में अभी 5 दिन और बंद रहेंगे बैंक, ब्रांच में जाने से पहले देखें छुट्टियों की पूरी लिस्‍ट

मई में हुई 1.41 लाख करोड़ जीएसटी वसूली

जीएसटी की वसूली मई में 1.41 लाख करोड़ रुपये रही. जीएसटी लागू होने के बाद यह चौथी बार है जब वसूली का आंकड़ा 1.40 लाख करोड़ रुपये के पार रहा है. मार्च 2022 से यह लगातार इस स्तर के पार बना हुआ है. मई का जीएसटी कलेक्‍शन अप्रैल 2022 महीने की तुलना में 16 फीसदी कम रहा.

Tags: Gst, GST council meeting, Gst latest news in hindi

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)