inflation in us e0a485e0a4aee0a587e0a4b0e0a4bfe0a495e0a4be e0a4aee0a587e0a482 e0a489e0a4aae0a4ade0a58be0a495e0a58de0a4a4e0a4be e0a4aee0a4b9
inflation in us e0a485e0a4aee0a587e0a4b0e0a4bfe0a495e0a4be e0a4aee0a587e0a482 e0a489e0a4aae0a4ade0a58be0a495e0a58de0a4a4e0a4be e0a4aee0a4b9 1

नई दिल्ली. अमेरिका में महंगाई को लेकर राहत की खबर है. ब्यूरो ऑफ लेबर स्टैटिस्टिक्स की गुरुवार को जारी विज्ञप्ति के अनुसार, उपभोक्ता कीमतें अक्टूबर 2022 में उपभोक्ता महंगाई दर 7.7 फीसदी रहा है जबकि सितंबर में महंगाई दर 8.2 फीसदी रहा था. अमेरिका में मासिक आधार पर उपभोक्ता वस्तुओं की कीमतों में 0.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई. उपभोक्ता कीमतों की अक्टूबर की रीडिंग के बाद गुरुवार को स्टॉक फ्यूचर्स में तेज उछाल देखा गया. महंगाई में इजाफे का कारण गैस के दाम, खाने-पीने और अन्य जरूरी वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि है.

फूड और एनर्जी कीमतों को छोड़ दें तो कोर इंफ्लेशन 12 महीनों में 6.3 फीसदी बढ़ा है जबकि सितंबर महीने से 0.3 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है. महंगाई दर के जो आंकड़े आए हैं वो अर्थशास्त्रियों के अनुमान से कम है. कई चीजों के दाम घटने से महंगाई में कमी आई है. महंगाई का असर अमेरिकी अर्थव्यवस्था पर पड़ा है. उपभोक्ता खर्च में कटौती कर रहे हैं जिसका असर कंपनियों के नतीजों पर देखा गया है.

 इस्तेमाल किए गए वाहनों की कीमतों में 2.4% की गिरावट ने मुद्रास्फीति के आंकड़ों को नीचे लाने में मदद की. परिधान की कीमतें 0.7% गिर गईं और चिकित्सा देखभाल सेवाएं 0.6% कम हो गईं. फेडरल रिजर्व के अध्यक्ष जेरोम पॉवेल और उनके केंद्रीय बैंक के सहयोगी जल्द ही मुद्रास्फीति को कम करने की कोशिश करने के लिए ब्याज दर वृद्धि की आक्रामक गति को धीमा या रोक देंगे.

इधर अमेरिकी मध्यावधि चुनावों से कोई निश्चित परिणाम उपलब्ध नहीं होने के कारण, निवेशक मुद्रास्फीति के आंकड़ों की ओर देख रहे थे, डॉव जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज से जुड़े फ्यूचर्स ने 844 अंक या 2.6% की छलांग लगाई. एसएंडपी 500 वायदा 3% उछला, जबकि नैस्डैक 100 वायदा 3.7% से अधिक चढ़ा. सीपीआई रिपोर्ट के बाद 10 साल की ट्रेजरी यील्ड 18 बेसिस पॉइंट से अधिक गिरकर 3.946% हो गई, जो कि 4% के स्तर से नीचे गिर गई.

READ More...  Mankind Pharma IPO: कंडोम बनाने वाली कंपनी लाएगी आईपीओ, SEBI के पास जमा किए दस्तावेज

ये भी पढ़ें: Housing Sales: पहली छमाही में 7 बड़े शहरों में बिके 119% ज्यादा मकान, एनारॉक का दावा

मुद्रास्फीति दर में मंदी के बावजूद, यह अभी भी फेड के 2% लक्ष्य से काफी ऊपर है, और रिपोर्ट के कई क्षेत्रों से पता चलता है कि जीवन यापन की लागत उच्च बनी हुई है. मुद्रास्फीति में वृद्धि के कारण, श्रमिकों ने अक्टूबर में एक और वेतन कटौती की. एक अलग बीएलएस विज्ञप्ति के अनुसार, वास्तविक औसत प्रति घंटा आय में महीने के लिए 0.1% की गिरावट आई और वार्षिक आधार पर 2.8% की गिरावट आई.

ब्रेकिंग न्यूज़ हिंदी में सबसे पहले पढ़ें News18 हिंदी| आज की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट, पढ़ें सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट News18 हिंदी|

FIRST PUBLISHED : November 10, 2022, 21:08 IST

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)