क्या मत्स्य पालन वास्तव में इतना कठिन है? नहीं अगर ओज़पॉलिश (OZPOLISH) पर विश्वास किया जाए

मछली पालन के शौकीनों को अपने शौक और पेशे को आसानी से आगे बढ़ाने में मदद करने वाले उत्पादों की एक श्रृंखला ओज़पॉलिश इस मिथक को तोड़ने के लिए तैयार है कि मछली पालन करना मुश्किल है।

 क्या मत्स्य पालन वास्तव में इतना कठिन है? नहीं अगर ओज़पॉलिश (OZPOLISH) पर विश्वास किया जाए
OZPOLISH

मीठे पानी के एक्वैरियम आकर्षक होते हैं, लेकिन बहुत से लोग इसे रखने से हिचकिचाते हैं क्योंकि इनका रखरखाव मुश्किल लगता है। कई शुरुआती लोग अपने नए टैंक के लिए उत्सुक होते है, उसमे जल्दी से पानी भर मछलियॉँ छोड़ देते है। लोग अक्सर ऐसी गलतियां कर जाते है। हालाँकि मीठे पानी के एक्वेरियम की स्थापना और रखरखाव मुश्किल नहीं है, लेकिन इसके लिए कुछ समर्पण, ज्ञान और सही उत्पादों के उपयोग की आवश्यकता होती है।

मत्स्य पालन की अपनी ही कुछ चुनौतियों होती है। पानी का पहले विश्लेषण किए बिना यह बताना असंभव है कि क्या अमोनिया या नाइट्राइट की समस्याएँ बन रही हैं और आपके नए टैंक में मछली (या झींगा) छोड़ना सुरक्षित है। मौजूदा मछलियाँ नाइट्रोजनयुक्त कचरे (जैसे की अमोनिया और नाइट्राइट) के स्तर के अनुकूल हो जाती हैं और लम्बे समय होने तक भी कई बार उनमे संकट के लक्षण नहीं दिखती हैं। नई मछलियों को उच्च स्तर के नाइट्रोजनयुक्त कचरे वाले एक्वेरियम में रहने के अनुकूलन करना बेहद कठिन हो सकता है क्योंकि उन्हें इसके लिए पहले कभी भी समय नहीं मिला होगा। अतिरिक्त मछली छोड़ने के लिए कोई “सुरक्षित” समय अवधि नहीं है, और अमोनिया या नाइट्राइट निश्चित रूप से पानी में नहीं होनी चाहिए। मछली, जीवित पौधों, या अखाद्य भोजन को विघटित होने से उत्पन्न अपशिष्ट मछली टैंक के अंदर ही रहता है, जो की पूरी तरह से निहित वातावरण होती है। इस कचरे के परिणामस्वरूप जहरीले अमोनिया और नाइट्राइट जैसे विषाक्त पदार्थ पानी में बढ़ जाते हैं। ये जहर आमतौर पर जैविक फिल्टर द्वारा नाइट्रेट में परिवर्तित हो जाते हैं। नाइट्रेट एक निश्चित स्तर से परे आपकी मछलियों के लिए हानिकारक है। नियमित रूप से पानी के बदलाव नाइट्रेट को कम रखने में मददगार होती है। इसलिए, यह सुनिश्चित करना हमेशा बेहतर होता है कि आप अपनी मछलियों के लिए पानी को पर्याप्त रूप से स्वस्थ रखें।

एक्वेरियम क्लीनर और वाटर कंडीशनर दो ऐसे उत्पाद हैं जो आपके फिश एक्वेरियम को बनाए रखने में आपकी मदद करते हैं। ये उत्पाद सुनिश्चित करते हैं कि एक्वेरियम और उसका पानी मछली के लिए स्वस्थ रहें। नल के पानी में आमतौर पर पाए जाने वाले क्लोरीन, क्लोरैमाइन और ट्रेस धातुओं को खत्म करने के लिए, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि पानी को डीक्लोरीनिंग एजेंट से उपचारित किया जाए। एक वॉटर कंडीशनर आपको अमोनिया, नाइट्राइट, पीएच और विशिष्ट गुरुत्व स्तरों को कम करने में मदद कर सकता है।

अक़्वेटिक हैबिटैट (Aquatic Habitat) के अनुसार, मछली पालन के सभी शौक़ीन अब राहत की सांस ले सकते हैं क्योंकि उनकी मदद के लिए उनके पास ओज़पॉलिश है। ओज़पॉलिश का उद्देश्य मछली पालन को एक मजेदार गतिविधि बनाना है जो सामाजिक रूप से लाभकारी, आर्थिक रूप से स्वीकार्य और तकनीकी रूप से संभव हो। अपने पोर्टफोलियो में 10 से अधिक उत्पादों के साथ, भारत में  अक़्वेटिक हैबिटैट आपकी मछलियों को सर्वोत्तम ‘एक्वैरियम’ और उत्पादक ‘जलीय कृषि’ उत्पादों के साथ प्रदान करने के महत्व पर केंद्रित है। iCANaquarium.com पर उपलब्ध ओज़पॉलिश फ्लैगशिप के तहत सभी उत्पादों पर एक त्वरित नज़र यहाँ निचे है

ओज़पॉलिश बायो-क्योर (OZPOLISH Bio-Cure)- फिश टैंक फायदेमंद बैक्टीरिया

ओज़पॉलिश एच टु ओ (OZPOLISH H2O)- एक्वेरियम वाटर कंडीशनर

ओज़पॉलिश ओ टु (OZPOLISH O2) – एक्वेरियम फिश ऑक्सीजन पाउडर

ओज़पॉलिश डी एलगी (OZPOLISH De Algae)- एक्वेरियम तरल शैवाल हटानेवाला / खुरचनी

ओज़पॉलिश डी क्लोरीन (OZPOLISH De Chlorine)- एक्वेरियम क्लोरीन न्यूट्रलाइजर/रिमूवर

ओज़पॉलिश डी स्ट्रेस (OZPOLISH De Stress)- फिश स्ट्रेस रिलीफ / कोट / हील / रिड्यूसर

ओज़पॉलिश बायो-स्केप (OZPOLISH Bio-Scape) – उर्वरक बैक्टीरिया और पानी सॉफ़्नर के साथ ऑल-इन-वन एक्वेरियम उर्वरक

ओज़पॉलिश प्यूरिटी (OZPOLISH Purity) – एक्वेरियम साफ़ फ़िल्टर जल मीडिया पैड

ओज़पॉलिश डी अम्मो (OZPOLISH De Ammo) – एक्वाकल्चर अमोनिया रेड्यूसर

ओज़पॉलिश डी नाइत्रा (OZPOLISH De Nitra) – एक्वाकल्चर नाइट्रेट रेड्यूसर

यहाँ नीचे कुछ पानी के मुद्दे हैं जिन्हें ओज़पॉलिश द्वारा संबोधित किया गया है:

अमोनिया: अमोनिया मछली चयापचय का एक सामान्य अपशिष्ट उत्पाद है जो पानी में ढेर होने पर मछली के लिए अत्यधिक हानिकारक हो सकता है।

शैवाल: जबकि कुछ शैवाल की वृद्धि सुरक्षित और विशिष्ट होती है, अत्यधिक शैवाल की वृद्धि बदसूरत होती है और मछली और पौधों के लिए हानिकारक हो सकती है। पानी में फॉस्फेट या नाइट्रेट के जमा होने के कारण, अत्यधिक रोशनी, बहुत अधिक मछलियों का बचा  हुआ खाना, और अपर्याप्त पानी परिवर्तन आपके एक्वेरियम में शैवाल के विकास का कारण बन सकते हैं।

दूधिया पानी: यदि एक्वेरियम में बचा हुआ भोजन रहने दिया जाए, तो यह तो यह नितरोगेनोस और आर्गेनिक कचरे को जमा करेगा जो की बैक्टीरिया का भोजन होगा। यह बैक्टीरिया जो अतिरिक्त पोषक तत्वों को खा जाने के लिए विकसित है, अपनी आबादी बढ़ाते है। इनकी बढ़ी हुई आबादी से पानी दूधिया नज़र आता है।

पत्थरें जल रसायन को प्रभावित कर सकते हैं: मीठे पानी के एक्वैरियम में, चूना पत्थर, डोलोमाइट, अर्गोनाइट, कुचल मूंगा या सीप के गोले से बनी बजरी का उपयोग करने से पानी की कठोरता और पीएच बढ़ जाएगा जो कई मछलियों के लिए अच्छा नहीं हो सकता है।

नाइट्राइट: जब अमोनिया का स्तर बढ़ता है, तो नाइट्राइट का स्तर भी बढ़ जाता है, जो तेजी से घातक हो सकता है।

फॉस्फेट: यदि एक्वेरियम का उचित रखरखाव नहीं किया जाता है, तो फॉस्फेट का स्तर बढ़ जाएगा, जो शैवाल के विकास में योगदान देता है।

इन सभी पानी के मुद्दों को सर्वोत्तम एक्वैरियम उत्पादों के समर्थन की आवश्यकता है, जो की हमारे जलीय मित्रों पानी को साफ और स्वस्थ रखते हैं।  अक़्वेटिक हैबिटैट का मानना है कि ओज़पॉलिश शौकिया और विशेषज्ञ मछली पालक के अपेक्षाओं के अनुसार सर्वश्रेष्ठ फिश टैंक के लिए उत्पाद प्रदान कर सकता है। भागीदारों के सहयोग से सर्वोत्तम संसाधनों का दोहन करने के दर्शन के साथ, एक्वैरियम एवं कृत्रिम तालाब के अंदर प्रकृति की नकल करते हुए, भारत में यह उद्पाद गर्व से बनाए जाते हैं।

यहां संपर्क करें:

Website: https://iCANaquarium.com/

Email: [email protected]ANaquarium.com

For More Follow: TimesNewsNew

For Cricket News Follow: CricDon

READ More...  रामविलास पासवान को पद्मभूषण अवार्ड, चिराग हुए भावुक, PM मोदी के लिए कही ये बात

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.