kosovo serbia conflict e0a4a8e0a48f e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a4aae0a4b0 nato e0a494e0a4b0 e0a4b0e0a582e0a4b8 e0a4aee0a587e0a482 e0a4b9e0a58b e0a4b8
kosovo serbia conflict e0a4a8e0a48f e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a4aae0a4b0 nato e0a494e0a4b0 e0a4b0e0a582e0a4b8 e0a4aee0a587e0a482 e0a4b9e0a58b e0a4b8 1

हाइलाइट्स

नए साल पर NATO और रूस के बीच भिड़ंत की आशंका
कोसोवो और सर्बिया के बीच कभी भी हो सकता है युद्ध
सर्बिया ने कोसोवो के साथ अपनी सीमा के पास सेना को हाई अलर्ट पर रखा

नई दिल्ली. नए साल पर जहां एक ओर लोग शांति की ओर बढ़ने की बात करते हैं. वहीं रूस (Russia) एक और फ्रंट पर युद्ध (war) छेड़ सकता है. सर्बिया (Serbia) और कोसोवो (Kosovo) के बीच महीनों से चल रहा टकराव युद्ध में बदलने की आशंका है. अगर ऐसा होता है तो इस फ्रंट पर रूस और नाटो (NATO) आमने सामने आ जाएंगे. हालात कितने बिगड़े हुए हैं इसका अंदाजा इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि सर्बिया के रक्षा मंत्री मिलोस वूसेविक ने सोमवार (26 दिसंबर) को अपनी सेना को युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए कहा है.

वेटिकन न्यूज की एक रिपोर्ट के अनुसार सर्बिया ने कोसोवो के साथ लगी सीमा पर अपनी सेना को हाई अलर्ट पर रखा है. दोनों देशों के बीच गतिरोध तब और बढ़ जाता है, जब सर्बिया और कोसोवो एक दूसरे पर सशस्त्र टकराव की तैयारी करने का आरोप लगाते हैं. बता दें कि साल 2008 में कोसोवो, सर्बिया से आजाद हुआ था. फिलहाल कोसोवो ने भी अपने इरादे दिखा दिए हैं, वह भी पीछे हटने को तैयार नहीं है.

पढ़ें- Heavy Snowfall: जापान और अमेरिका में काल बना बर्फीला तूफान, तस्वीरों में देखें ‘बर्फ की तबाही’

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार कोसोवो ने सर्बिया पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह ऐसा रूस के प्रभाव में कर रहा है. कोसोवो के आंतरिक मंत्री जेलाल स्वेक्ला (Xhelal Svecla) ने मंगलवार को कहा कि सर्बिया रूस के प्रभाव में कोसोवो को अस्थिर करना चाह रहा है. उत्तरी कोसोवो में जातीय रूप से विभाजित शहर मित्रोविका में सर्बों (Serbs) ने मंगलवार को नए बैरिकेड्स लगाए. इससे तनाव और बढ़ गया है.

READ More...  दक्षिण कोरिया ने अर्थव्यवस्था संभालने के लिए सैमसंग के अरबपति बॉस को किया माफ, मिली काम पर लौटने की अनुमति

आग क्यों सुलगी?
मालूम हो कि सर्बिया से कोसोवो के आजाद होने के बाद से ही दोनों देशों के बीच गतिरोध चलता आ रहा है. बीते 25 दिसंबर को दोनों देशें ने एक दूसरे पर फायरिंग का आरोप लगाया. कोसोवो का आरोप था कि फायरिंग सर्बिया की तरफ से की गई. वहीं सर्बिया ने आरोप लगाया कि फायरिंग कोसोवो में तैनात KFOR (कोसोवो में नाटो के नेतृत्व वाली अंतरराष्ट्रीय शांति सेना) की तरफ से की गई थी. इसके बाद दोनों देशों के बीच पिछले 10 महीने से जारी तनाव और भड़क गया. KFOR ने इस फायरिंग की घटना को लेकर कहा  कि वह जांच कर रहा है. इस बीच सर्बिया के प्रधानमंत्री एना ब्रनाबिक ने भी बयान दिया. उन्होंने कहा कि यह दोनों देशों के बीच युद्ध भड़काने की एक साजिश है.

Tags: NATO, Russia, War

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)