mann ki baat e0a4aae0a58de0a4b0e0a4a7e0a4bee0a4a8e0a4aee0a482e0a4a4e0a58de0a4b0e0a580 e0a4aee0a58be0a4a6e0a580 e0a4a8e0a587 2022 e0a495
mann ki baat e0a4aae0a58de0a4b0e0a4a7e0a4bee0a4a8e0a4aee0a482e0a4a4e0a58de0a4b0e0a580 e0a4aee0a58be0a4a6e0a580 e0a4a8e0a587 2022 e0a495 1

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को क्रिसमस के मौके पर अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम के 96वें संस्करण को संबोधित किया. यह इस साल का उनका आखिरी ‘मन की बात’ भी रहा. प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों को क्रिसमस की शुभकामनाएं दीं. उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 98वीं जयंती पर उनको याद करते हुए श्रद्धांजलि दी. उन्होंने अपने संबोधन में गुजरते साल को विदाई देते हुए इस वर्ष भारत की उपलब्धियों का जिक्र किया. उन्होंने कहा कि अद्भुत रहा साल 2022, भारत ने आजादी के 75 साल पूरे किए, ‘अमृत काल’ शुरू हुआ. भारत ने इस साल तेजी से प्रगति की और दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया.

मन की बात में पीएम मोदी ने कहा कि पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने शिक्षा, विदेश नीति और इंफ्रास्ट्रक्चर सहित हर क्षेत्र में भारत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया. मैं उनकी 98वीं जन्म जयंती पर उन्हें विनम्रता पूर्वक नमन करता हूं. पीएम ने कहा कि ‘मन की बात’ का अगला एपिसोड वर्ष 2023 का पहला एपिसोड होगा. अतीत का अवलोकन तो हमेशा हमें वर्तमान और भविष्य की तैयारियों की प्रेरणा देता है. 2022 में देश के लोगों का सामर्थ्य, उनका सहयोग, उनका संकल्प, उनकी सफलता का विस्तार इतना ज्यादा रहा कि ‘मन की बात’ में सभी को समेटना मुश्किल होगा. साल 2022 एक और कारण से हमेशा याद किया जाएगा वह है, ‘एक भारत-श्रेष्ठ भारत’ की भावना का विस्तार.

उन्होंने कहा कि इस वर्ष देश के लोगों ने एकता और एकजुटता का जश्न मनाने के लिए भी कई अद्भुत आयोजन किए. गुजरात के माधवपुर मेला हो, जहां रुक्मिणी विवाह और भगवान कृष्ण के पूर्वोतर से संबंधों को सेलिब्रेट किया जाता है या फिर काशी-तमिल संगमम् हो, इन पर्वों में भी एकता के कई रंग दिखे. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘2022 में देशवासियों ने एक और अमर इतिहास लिखा है. अगस्त के महीने में चला ‘हर घर तिरंगा’ अभियान भला कौन भूल सकता है. वे पल थे, हर देशवासी के रौंगटे खड़े हो जाते थे. आजादी के 75 वर्ष के इस अभियान में पूरा देश तिरंगामय हो गया. 6 करोड़ से ज्यादा लोगों ने तो तिरंगे के साथ सेल्फियां भी भेजी. आजादी का यह अमृत महोत्सव अभी अगले साल भी ऐसे ही चलेगा- अमृतकाल की नींव को और मजबूत करेगा. साथियों, इस साल भारत को G-20 समूह की अध्यक्षता की जिम्मेदारी भी मिली है. मैंने पिछली बार इस पर विस्तार से चर्चा भी की थी. साल 2023 में हमें G-20 के उत्साह को नई ऊंचाई पर लेकर जाना है, इस आयोजन को एक जन-आंदोलन बनाना है.’

READ More...  अप्रैल में भारत पहुंचेगी 3 राफेल लड़ाकू विमानों की खेप, अंबाला एयरबेस पर होगी लैंडिंग

Tags: Christmas, Mann Ki Baat, PM Modi

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)