meta layoffs e0a49ce0a581e0a495e0a4b0e0a4ace0a4b0e0a58de0a497 e0a4a8e0a587 e0a496e0a581e0a4a6 e0a495e0a58b e0a49ce0a4bfe0a4aee0a58de0a4ae
meta layoffs e0a49ce0a581e0a495e0a4b0e0a4ace0a4b0e0a58de0a497 e0a4a8e0a587 e0a496e0a581e0a4a6 e0a495e0a58b e0a49ce0a4bfe0a4aee0a58de0a4ae 1

हाइलाइट्स

जुकरबर्ग ने कहा- मेटा प्राथमिकता वाले कार्यों में लगाएगी ज्‍यादा संसाधन.
हर विभाग में घटाई जाएगी कर्मचारियों की संख्‍या. कॉस्ट कटिंग जारी रहेगी.
मार्च 2023 तक हायरिंग पर रोक रहेगी, आगे का फैसला बाद में लेंगे.

नई दिल्‍ली. फेसबुक की पेरेंट कंपनी मेटा (Meta) प्लेटफॉर्म्स इंक ने 11,000 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी कर दी है. 2004 में शुरू हुई कंपनी के इतिहास में ये सबसे बड़ी छंटनी (Meta Layoffs) हैं. मेटा के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी मार्क जुकरबर्ग ने निकाले गए कर्मचारियों से माफी मांगी है और उन कारणों को भी गिनाया, जिन वजहों से यह सख्‍त फैसला कंपनी को लेना पड़ा.

कर्मचारियो को भेजे संदेश में मार्क जुकरबर्ग ने कहा है कि मेटा आगे भी खर्च में कटौती करती रहेगी. साथ ही उन्‍होंने कंपनी की प्राथमिकताओं की जानकारी भी दी. जुकरबर्ग ने साफ कर दिया है कि मेटा में नई भर्ती पर रोक 2023 के मार्च महीने तक जारी रहेगी. मेटा सीईओ ने कहा कि नौकरी से निकाले गए सभी कर्मचारियों को हर तरह की सहायता देने की कोशिश की जाएगी.

ये भी पढ़ें-   Meta Layoffs: फेसबुक की पेरेंट कंपनी ने 11,000 लोगों को नौकरी से निकाला, जुकरबर्ग ने मांगी माफी

मार्च 2023 तक नई भर्तियों पर रोक

जुकरबर्ग ने कर्मचारियों को भेजे संदेश में कहा है कि कंपनी विवेकाधीन खर्च में कटौती करेगी और पहली तिमाही के अंत तक नई भर्तियों पर रोक जारी रखेगी. मेटा ग्लोबल स्तर पर कैलेंडर ईयर को फालो करती है. इसका मतलब है कि मेटा में भर्तियां मार्च 2023 तक बंद रहेंगी. जुकरबर्ग ने कहा कि वर्कफोर्स में कमी कंपनी के सभी विभागों में की जाएगी और बिजनेस टीम को भी रिस्‍ट्रक्‍चर किया जाएगा.

READ More...  इन 3 फंड्स ने दिया धांसू रिटर्न, ₹10,000 के मंथली SIP से 3 साल में बन गए ₹6 लाख

मैं पहले भांप नहीं पाया, पूरी जिम्मेदारी मेरी

जुकरबर्ग ने कर्मचारियों को नौकरी से निकालने का कारण बताते हुए कहा कि कोरोना महामारी के कारण निवेश में काफी इजाफा हुआ. इस निवेश से ग्रोथ पर बहुत गहरा असर पड़ा. महामारी समाप्‍त होने के बाद भी इस निवेश को जारी रखना पड़ रहा है. जुकरबर्ग ने कहा, “मैक्रोइकोनोमिक में डाउनट्रेंड रहने, प्रतिस्‍पर्धा बढ़ने और विज्ञापनों से आय में गिरावट आने के चलते मेटा की आय में अपेक्षा से ज्‍यादा गिरावट आई है. मैं इसे पहले भांप नहीं पाया और मैं इसकी पूरी जिम्‍मेदारी लेता हूं.”

ये भी पढ़ें-   Tesla Share Price: एलन मस्क ने बेचे 4 अरब डॉलर के शेयर, स्टॉक 17 महीने के निचले स्तर पर

कंपनी को बनाएंगे कैपिटल एफिशिएंट

मेटा सीईओ ने कहा कि मेटा को कैपिटल एफिशिएंट बनाना अब पहली प्राथमिकता है. ग्रोथ की प्राथमिकता वाले एरिया में ही ज्‍यादा संसाधनों को लगाया जाएगा और प्राथमिकताओं को भी कम किया जाएगा. अब कंपनी AI डिस्‍कवरी इंजन, विज्ञापन और बिजनेस प्‍लेटफॉर्म्‍स और मेटावर्स जैसे क्षेत्रों में ज्‍यादा जोर लगाएगी. कंपनी ने बजट घटाया है, भत्‍ते कम किए हैं और रियल एस्‍टेट फुटप्रिंट को कम करके लागत को घटाया है. जुकरबर्ग ने कहा कि केवल इन सब उपायों से भी कंपनी के खर्चों को रेवेन्‍यू ग्रोथ के अनुरूप नहीं लाएंगे. इसलिए अब कर्मचारियों की छंटनी करने का सख्‍त फैसला लेना पड़ा है.

सहायता का आश्‍वासन

जुकरबर्ग ने यह भी बताया कि निकाले गए कर्मचारियों को कंपनी क्‍या-क्‍या देगी. उन्होंने कहा अमेरिका और अमेरिका के बाहर के कर्मचारियों को समान लाभ दिए जाएंगे. हर देश के स्‍थानीय रोजगार कानूनों के अनुसार निकाले गए कर्मचारियों को लाभ मिलेंगे. जिन कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है, उन्हें 16 सप्‍ताह के मूल वेतन के साथ ही, मेटा में उनके द्वारा बिताए गए प्रत्येक वर्ष के लिए 2 अतिरिक्त सप्ताह का भी भुगतान किया जाएगा. बकाया पीटीओ भुगतान कर दिया जाएगा और 6 महीने के लिए स्वास्थ्य बीमा सुविधा प्रदान की जाएगी.

READ More...  Gold Price Today: सोने की चमक हुई फीकी, चांदी भी 786 रुपये लुढ़की, देखें सोने-चांदी का लेटेस्ट सर्राफा रेट

वीजाधारकों के लिए क्या?

उन्होंने कहा कि जो कर्मचा‍री वीजा पर अमेरिका में हैं, उन्‍हें इमीग्रेशन हेल्प भी दी जाएगी. जुकरबर्ग ने कहा, “जो लोग वीजा पर हैं, उनके लिए यह कठिन समय है. जिन कर्मचारियों की सेवाएं समाप्‍त की गई हैं, उनकी इमीग्रेशन में मदद करने के लिए इमीग्रेशन एक्सपर्ट्स की सेवाएं मुहैया कराई जाएंगी.”

भविष्य के लिए क्या प्लान? 

मेटा में नए कर्मचारियों की नियुक्तियों पर जुकरबर्ग ने कहा कि इस पर फैसला बिजनेस परफॉर्मेंस, ऑपरेशनल एफिसिएंशी और अन्‍य आर्थिक मसलों को ध्‍यान में रखकर लिया जाएगा. नई भर्तियां कब होंगी, इस पर फिलहाल कुछ नहीं कहा जा सकता.

जारी रहेगी कॉस्‍ट कटिंग

अपने संदेश में जुकरबर्ग ने कहा कि मेटा में कॉस्‍ट कटिंग जारी रहेगी. रियल एस्‍टेट फुटप्रिंट को कम किया जाएगा और डेस्‍क शेयरिंग सिस्‍टम लागू किया जाएगा. यह सिस्‍टम उस जगह अपनाया जाएगा, जहां ज्‍यादा कर्मचारी काम की वजह से ऑफिस से बाहर रहते हैं. आने वाले महीनों में खर्चों में कटौती के ज्‍यादा उपाय किए जाएंगे.

Tags: Business news in hindi, Employment, Facebook, Job loss, Mark zuckerberg

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)