moti ke niyam e0a487e0a4a8 e0a4b0e0a4bee0a4b6e0a4bf e0a495e0a587 e0a4b2e0a58be0a497e0a58be0a482 e0a495e0a58b e0a4a8e0a4b9e0a580e0a482
moti ke niyam e0a487e0a4a8 e0a4b0e0a4bee0a4b6e0a4bf e0a495e0a587 e0a4b2e0a58be0a497e0a58be0a482 e0a495e0a58b e0a4a8e0a4b9e0a580e0a482 1

हाइलाइट्स

मोती पहनने से जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है.
मोती को ज्योतिष सलाह के बाद धारण करना चाहिए.
मोती के साथ नीलम व गोमेद धारण नहीं करना चाहिए, यह शुभ नहीं होता है.

Moti Pahnane Ke Niyam: रत्न शास्त्र में नवरत्नों का महत्व बताया गया है. प्रत्येक रत्न का किसी एक विशेष ग्रह से संबंध होता है और वह उसी के अनुरूप फल देता है. नवरत्नों में मोती, मूंगा, पुखराज, पन्ना, नीलम, गोमेद, हीरा, वैदूर्य शामिल हैं. मोती का संबंध चंद्रमा से माना गया है. मोती धारण करने से अनेक लाभ होते हैं. पंडित इंद्रमणि घनस्याल बताते हैं कि मोती धारण करने से जीवन में सुख-शांति बनी रहती है परंतु मोती तभी फलदायी होता है, जब उसे राशि के अनुसार धारण करते हैं. बिना ज्योतिष की सलाह से रत्न धारण करने से लाभ की जगह नुकसान भी हो सकता है. आइये जानते हैं किन राशियों के लोगों को मोती धारण नहीं करना चाहिए.

मोती धारण करने के लाभ
रत्न शास्त्र के अनुसार, मोती का संबंध चंद्रमा से है. मोती धारण करने से व्यक्ति का मन शांत रहता है. वह स्वयं को तनावमुक्त महसूस करता है. मोती धारण करने से जीवन में सुख-समृद्धि, सफलता के मार्ग प्रशस्त होते हैं. जीवन में धन-संपदा बनी रहती है और तरक्की मिलती है. हालांकि व्यक्ति को अपनी राशि के अनुसार ही मोती धारण करना चाहिए.

इनको नहीं पहनना चाहिए मोती
ज्योतिषियों के अनुसार, मकर, तुला, वृष और कुंभ राशि के जातकों को मोती धारण नहीं करना चाहिए. इन राशियों के स्वामी व चंद्र देव के बीच शत्रुता रहती है. ऐसी स्थिति में मोती धारण करने से मानसिक व आर्थिक परेशानी हो सकती है.

READ More...  Aaj Ka Rashifal: मकर राशि वाले अस्वस्थता अनुभव करेंगे, कुंभ, मीन राशि वालों के मान-सम्मान में होगी वृद्धि

ये भी पढ़ें: कब है मौनी अमावस्या? इस दिन क्यों करते हैं गंगा स्नान, जानें मुहूर्त और महत्व

यह भी पढ़ें – आपको भी सपने में दिखाई देता है पीपल का पेड़? जान लें क्या है इसका अर्थ

वहीं, मोती के साथ नीलम व गोमेद भी धारण नहीं करना चाहिए, यह भी शुभ नहीं होता है. इसके अलावा सिंह लग्न वाले जातकों को भी मोती नहीं पहनना चाहिए क्योंकि इनकी कुंडली में चंद्रमा 12वें भाव के स्वामी होते हैं. ऐसे में मोती धारण करने से दांपत्य जीवन में तनाव आ सकता है, इसलिए मोती या कोई भी रत्न धारण करने से पहले ज्योतिष की सलाह अवश्य लेनी चाहिए.

Tags: Astrology, Dharma Aastha

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)