munger peda e0a495e0a58de0a4afe0a4be e0a486e0a4aae0a4a8e0a587 e0a496e0a4bee0a48f e0a4b9e0a588e0a482 e0a4b8e0a581e0a4b0e0a587e0a4b6
munger peda e0a495e0a58de0a4afe0a4be e0a486e0a4aae0a4a8e0a587 e0a496e0a4bee0a48f e0a4b9e0a588e0a482 e0a4b8e0a581e0a4b0e0a587e0a4b6

रिपोर्ट- सिद्धांत राज

मुंगेर. पेड़ा तो आपने बहुत खाया होगा, लेकिन क्या मुंगेर के सुरेश भैया के पेड़ा का स्वाद चखा है. अगर नहीं चखा है, तो एक बार जरूर इसका स्वाद लीजिए. इस दुकान का कोई नाम या बोर्ड नहीं है. यही नहीं, दुकान भी काफी छोटी है. इस दुकान के पेड़े का स्वाद लेने के लिए आपको संग्रामपुर बाजार के चौक आना होगा. इस पेड़े का एक स्टैंडर्ड साइज है और इसका एक पीस 10 रुपये में मिलता है.

इस दुकान में पेड़ा खाने वाले ग्राहक मनोज भगत बताते हैं कि सुरेश भैया का पेड़ा मुंगेर, भागलपुर, बांका और आसपास के कई जिलों में सबसे अच्छा है. हम लोग तो इस पेड़े को पसंद करते ही हैं बल्कि बच्चे भी इसे रोज खाना चाहते हैं. आगे उन्होंने बताया कि इनके पेड़े की कीमत मात्र 10 रुपये है, जो कि गाय, भैंस के शुद्ध दूध से बनता है. इसमें कोई मिलावट नजर नहीं आती है.

बिना स्टाफ के चलाते हैं दुकान, इसलिए…
पेड़ा दुकान के मालिक सुरेश भैया उर्फ सुरेश साव बताते हैं कि मंदा सीजन में पूरे दिन में 20 से 30 किलो दूध के पेड़े बेचते हैं. यदि बाजार में तेजी रही तो ये दोगुना और तीन गुना हो जाता है. वहीं, उन्होंने बताया कि दुकान पर स्टाफ नहीं रखा है क्योंकि उसको पेमेंट करेंगे तो उसका दाम ग्राहकों को बेचे गए सामान से ही वसूलना पड़ेगा, लिहाजा दुकान में मैं या मेरा बेटा रहता है. खुद से पेड़ा और चाय बनाते हैं. इस कारण पेड़ा 10 रुपये पीस और चाय 5 रुपये कप बेचते हैं. उसके बाद भी परिवार का भरण पोषण अच्छे से हो जाता है. उन्होंने आगे बताया कि यह दुकान 12 साल से चला रहा हूं. बहुत लोग मेरे पेड़े के बारे में जानते हैं, इसलिए लोग गाड़ी रोककर पेड़ा खाते हैं और पैक भी कराते हैं. साथ ही तमाम ग्राहक दिल्ली, हरियाणा, बेंगलुरु, कोलकाता में रहने वाले अपने रिश्तेदारों को भेजने के लिए भी पेड़े पैक करवाते हैं.

READ More...  Weather Update: झारखंड व बिहार सहित कई राज्यों में बारिश की संभावना, दिल्ली में आए तूफान ने मचाई तबाही

कैसे पहुंचेंगे सुरेश भैया की दुकान पर
मुंगेर मुख्यालय से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर बिहार से झारखंड को जोड़ने वाली मुख्य राजमार्ग, जिसे सुल्तानगंज-देवघर रोड कहा जाता है. इसी राजमार्ग से सटे संग्रामपुर बाजार के चौक पर सुरेश भैया उर्फ सुरेश साव के पेड़े और चाय की दुकान है. इस दुकान की खास बात यह है कि इस दुकान का कोई नाम बोर्ड नहीं लगा है.यदि आप बाहर के हैं और यह पेड़ा खाना चाहते हैं, तो आप मुंगेर के संग्रामपुर चौक पर रुककर किसी से भी पेड़ा और चाय वाले सुरेश भैया की दुकान का पता पूछ सकते हैं. इसके बाद आप दुकान पर आसानी से पहुंच जाएंगे.

Tags: Bihar News, Munger news, Street Food

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)