podcast e0a495e0a589e0a4aee0a4a8e0a4b5e0a587e0a4b2e0a58de0a4a5 e0a497e0a587e0a4aee0a58de0a4b8 e0a4aee0a587e0a482 e0a495e0a58de0a4b0
podcast e0a495e0a589e0a4aee0a4a8e0a4b5e0a587e0a4b2e0a58de0a4a5 e0a497e0a587e0a4aee0a58de0a4b8 e0a4aee0a587e0a482 e0a495e0a58de0a4b0 1

‘सुनो दिल से’ में आज सबसे पहले बात करेंगे टी-20 सीरीज में भारत और वेस्‍टइंडीज के बीच चल रही आंख मिचौली की. आगे बात होगी, कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स खेलने गई भारतीय महिला क्रिकेट टीम के प्रदर्शन और सेमीफाइनल मैच में उम्‍मीदों की और अंत में बात होगी श्रीलंका से यूएई शिफ्ट हुए एशिया कप की.


सप्ताह भर की क्रिकेट गतिविधियों पर आधारित पॉडकास्ट के साथ स्वीकार कीजिए संजय बैनर्जी का नमस्कार- सुनो दिल से.

भारत और वेस्टइंडीज के बीच चल रही टी-20 सीरीज में आंख-मिचौली जारी है. पहले मैच में भारत ने जीत हासिल की तो दूसरे में वेस्टइंडीज ने. तीसरे मैच में फिर भारत ने जीत दर्ज की और फिलहाल भारत सीरीज में 2-1 से आगे हैं. सीरीज का परिणाम चाहे जो हो, लेकिन टी-20 वर्ल्ड कप से ठीक दो महीने पहले भी भारत का प्रयोगों का दौर जारी है.

सूर्यकुमार यादव को टीम मैनेजमेंट ने वनडे की नाकामी के बावजूद ओपनर के तौर पर पेश किया. इससे पहले इस फोर्मेट में 31 साल के सूर्यकुमार ने कभी भी टीम इंडिया के लिए पारी की शुरुआत नहीं की थी. यहां तक कि आईपीएल में भी सिर्फ 12 बार उन्होने पारी की शुरूआत की. बावजूद इसके सूर्यकुमार पर ओपनर के तौर पर विश्वास जताना यह साबित करता है कि अब भी ओपनिंग स्लॉट खुला हुआ है और प्रयोग का सिलसिला जारी है.

ईशान किशन को पिछली दो वनडे सीरीज में मौका नहीं मिला, उससे पहले टी-20 सीरीज में वह उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे. ऐसे में एक और विकल्प की तलाश में सूर्यकुमार यादव को आजमाया गया. पहले दो मैचों में वह नही चले, लेकिन तीसरे मैच में चेज करते हुए स्काई ने केवल 44 गेंदों पर आठ चौके और चार छक्के की मदद से 76 रन ठोककर आगे का रास्ता बेहतर किया.

यहां यह भी देखना होगा कि कप्तान रोहित शर्मा पहले मैच में अर्धशतक जमाने के बाद दूसरे और तीसरे मैच में फ्लॉप रहे. ऐसे में ओपनर के तौर पर कब कौन फिट होगा, कहा नहीं जा सकता. ऋषभ पंत, ईशान किशन और लोकेश राहुल भी इस स्थान पर आजमाए जा चुके हैं. आस्ट्रेलिया जाने से पहले भारत को कुछ और सीरीज खेलनी हैं, और लगता है की प्रयोगों का सिलसिला आखिर तक चलता रहेगा.

READ More...  बेन स्टोक्स की तरह हार्दिक पंड्या भी वनडे से ले सकते हैं संन्यास, पूर्व भारतीय कोच का दावा

बहरहाल, भारत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ अब तक जो प्रदर्शन किया है, वह संतोषजनक है. बल्लेबाजी हो गेंदबाजी, खिलाड़ियों ने मिल बांटकर टीम इंडिया के लिए योगदान किया है. मसलन, रोहित शर्मा पहले टी-20 में चले तो, सूर्यकुमार तीसरे में. दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या का योगदान भी कम नहीं था.

इस बार मिडिल आर्डर में धमाकेदार प्रदर्शन देखने को नहीं मिले. श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत और हार्दिक पंड्या से बड़े स्कोर की उम्मीद, केवल उम्मीद ही रह गयी. दीपक हुड्डा को तीसरे मैच में खेलने का मौका मिला. यह जरूर है कि तीसरे मैच में भारत को आसान जीत दिलाने के वक्त ऋषभ पंत 33 और दीपक हुड्डा 10 रन बनाकर क्रीज पर थे.

गेंदबाजी में थोड़ी मुश्किल स्थिति रही. किसी एक गेंदबाज का दबदबा नहीं रहा. पहले मैच में अश्विन, अर्शदीप और बिश्नोई दो-दो विकेट लेने में कामयाब रहे, जबकि तीसरे में भुवनेश्वर कुमार के हिस्से दो विकेट आए. गेंदबाजी मे हार्दिक पंड्या को अब तक सीरीज मे विकेट नहीं मिला, लेकिन उनका शुमार भारतीय टीम के सबसे भरोसेमंद खिलाड़ियों में हैं, ऐसे में फिलहाल उन पर सवालिया निशान नहीं लग सकते.

दूसरी ओर वेस्टइंडीज के लिए सीरीज में काइल मेयर्स, ब्रेंडन किंग और डेवोन थॉमस ने बेहतर पारियां खेली. जैसन होल्डर छोटे फोर्मेट के बड़े खिलाड़ी माने जाते हैं, पर उनको जिन दो मैचों में मौका मिला, उसमें उनका प्रदर्शन कतई हौसला बढ़ाने वाला नहीं था. इस मामले में ओबैद मैकॉय की दाद देनी होगी, जिन्होंने सेंट किट्स के दूसरे मैच में भारतीय पारी को झकझोर कर रख दिया था और केवल 17 रन देकर छह विकेट लिये थे और पूरी भारतीय टीम को केवल 138 रन पर समेट दिया था.

सीरीज के दौरान दूसरे मैच मे भारतीय खिलाड़ियों की किट देर से पहुँचने की वजह से मैच तीन घंटे विलंब से शुरू हुआ. लेकिन तीसरे मैच में कोई समस्य नहीं थी, पर फिर भी मुकाबला डेढ घंटे की देरी से शुरू हुआ.

समस्या तो सीरीज के बचे हुए दो मैचों को लेकर भी थी, क्योंकि इसे अमेरिका के फ्लोरिडा शहर में खेला जाना था. लंबे समय से बने इस कार्यक्रम के बावजूद भारतीय खिलाड़ियों के लिए अमेरिका का वीजा तैयार नहीं था. लेकिन गयाना के राष्ट्रपति के हस्तक्षेप के बाद वीजा की समस्या खत्म हो गयी है. मैच निर्धारित समय पर 6 और 7 तारीख को फ्लोरिडा के लौडरहिल में ही खेले जाएंगे. भारत इससे पहले इस वेन्यू पर 2016 और 2019 में चार मैच खेल चुका है जिसमें से उसे दो में जीत और एक में हार मिली थी. वेस्टइंडीज ने भी यहाँ खेले गए 8 मे से तीन जीते हैं और चार मे उसे शिकस्त मिली है.

READ More...  इंग्लैंड ने लगातार मेडन ओवर फेंकने का 21 साल पुराना इतिहास दोहराया, रन के लिए तरसे रोहित-विराट-धवन

उधर भारत की महिला टीम इस समय कॉमनवेल्थ गेम्स में खेल रही है, और उसने सेमीफाइनल में इन्ट्री मारकर पदक की उम्मीद जगा दी है. कल सेमीफाइनल मुकाबला इंग्लैंड से खेला जाएगा. दूसरे सेमीफाइनल मे ऑस्ट्रेलिया पड़ोसी न्यूज़ीलैंड से भिड़ेगा. कॉमनवेल्थ गेम्स में महिला क्रिकेट को पहली बार शामिल किया गया है. ग्रुप ए में आस्ट्रेलिया ने तीनों मैच जीतकर पहला और भारत ने दो मैच जीतकर दूसरा स्थान हासिल करते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई. बारबाडोस, पाकिस्तान, श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट मे फिलहाल पदकों की संभावना से बाहर हो चुके हैं.

भारतीय टीम हरमनप्रीत कौर की कप्तानी में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं. पहले मैच में भारत को आस्ट्रेलिया ने तीन विकेट से हराया, लेकिन दूसरे मैच में भारत ने पाकिस्तान को आठ विकेट से और तीसरे मैच में बारबाडोस को 100 रन से पराजित किया.

ग्रुप ए के शुरुआती मैच में भारत ने आस्ट्रेलिया को कड़ी टक्कर दी. एक समय भारतीय महिलाएं आसान जीत की ओर बढ़ रही थीं. भारत ने 154  रन खड़ा किया था. इसके जवाब में जब भारत ने आस्ट्रेलिया के पहले पांच विकेट केवल 49 पर और फिर उसके बाद पहले सात विकेट केवल 110 रन पर समेट दिये थे, तब लगा कि आसान जीत मिल जाएगी. लेकिन  एक बार फिर से भारतीय गेंदबाजों की कमजोरी उभरकर सामने आ गयी. विपक्षी टेलेंडर्स को हल्के में लेने की गलती ने पासा पलट दिया. आस्ट्रेलिया ने यह मैच तीन विकेट से जीता. इस मैच में भारत के लिए हरमनप्रीत कौर ने 52 और शेफाली वर्मा ने 48 रन बनाये.

READ More...  IND vs ENG: जो रूट और जॉनी बेयरस्टो ने कराई इंग्लैंड की वापसी, रोमांचक मोड़ पर एजबेस्टन टेस्ट

दूसरे मैच में भारत ने पाकिस्तान को आसानी से आठ विकेट से हराया. इस बार स्मृति मंधाना ने 64 रन बनाये और भारत को आसान जीत दिलवा दी.

बारबडोस के खिलाफ ग्रुप के तीसरे मैच में भारत ने बड़ी जीत हासिल की. इसमें भारत के लिए शेफाली ने 43, दीप्ति शर्मा ने 34 और जेमिमा रोड्रिग्ज ने 56 रन बनाये. जबकि हरमनप्रीत बिना खाता खोले, पहली गेंद पर ही आउट हो गयीं.

भारतीय महिला टीम की ओर से अब तक जिस खिलाड़ी ने सबका दिल जीता है, वह रेणुका सिंह ठाकुर हैं. 26 साल की हिमाचल प्रदेश की इस मीडियम पेसर ने तीन मैचों में नौ विकेट लिये हैं. हालांकि इससे पहले वह जिन नौ टी-20 मैचों में खेली थीं केवल तीन विकेट ही उन्हे मिले थे.

इधर भारतीय टीम को इसी महीने जिम्बाब्वे दौरे पर तीन वनडे मैचों की सीरीज खेलनी है. इसके लिए फिर से शिखर धवन को कप्तान बनाया गया है. रोहित के अलावा विराट कोहली, ऋषभ पंत, हार्दिक पंड्या, जसप्रीत बुमराह और रविंद्र जडेजा को रेस्ट दिया गया है. इस भारतीय टीम में वाशिंगटन सुदंर और दीपक चहर की वापसी हुई है जबकि विकेटकीपर के रूप में ईशान किशन और संजू सैमसन बने रहेंगे. साथ ही राहुल त्रिपाठी को भी टीम में शामिल किया गया है. भारतीय टीम हरारे में 18, 20 और 22 अगस्त को वनडे मैच खेलेगी.

और अंत में एशिया कप. श्रीलंका से यूएई शिफ्ट हुए एशिया कप के लिए कार्यक्रम जारी कर दिया गया है. इसके अनुसार भारत और पाकिस्तान इस प्रतियोगिता मे आपस मे तीन बार टकरा सकते हैं. ग्रुप ए में पहला मुकाबला भारत और पाकिस्तान के बीच 27 अगस्त को होगा. उम्मीद है कि इस ग्रुप से भारत और पाकिस्तान सुपर सिक्स के लिए भी क्वालीफाई करेंगे, और यह भी संभव है की इनकी एक और भिड़ंत फाइनल में हो जाए.

यह था, सप्ताह भर की क्रिकेट गतिविधियों पर आधारित पोड़कास्ट – सुनो दिल से. अगले हफ्ते तक संजय बैनर्जी को अनुमति दीजिए, नमस्कार.

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)