q2 result e0a4b8e0a4bfe0a4a4e0a482e0a4ace0a4b0 e0a4a4e0a4bfe0a4aee0a4bee0a4b9e0a580 e0a4aee0a587e0a482 lic e0a495e0a587 e0a4b6e0a581e0a4a6
q2 result e0a4b8e0a4bfe0a4a4e0a482e0a4ace0a4b0 e0a4a4e0a4bfe0a4aee0a4bee0a4b9e0a580 e0a4aee0a587e0a482 lic e0a495e0a587 e0a4b6e0a581e0a4a6 1

नई दिल्ली. इस समय कई कंपनियां अपने सितंबर तिमाही के परिणाम घोषित कर रही है. इस तिमाही किसी को बंपर प्रॉफिट हुआ है तो किसी को हानि. सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) का चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही का शुद्ध लाभ कई गुना बढ़कर 15,952 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. बीमा कंपनी ने इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 1,434 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया था. शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल प्रीमियम आय बढ़कर 1,32,631.72 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 1,04,913.92 करोड़ रुपये थी.

जेट एयरवेज को सितंबर में समाप्त तिमाही में 308.24 करोड़ रुपये का एकल शुद्ध घाटा हुआ है. एयरलाइन कंपनी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. जेट एयरवेज का परिचालन तीन साल से अधिक से बंद है.

ये भी पढ़ें: RBI ने इस बैंक का लाइसेंस किया रद्द, कहीं आपका तो नहीं था यहां अकाउंट

जेट एयरवेज को हुआ घाटा
विमानन कंपनी ने एक साल पहले इसी अवधि में 305.76 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा दर्ज किया था. कॉरपोरेट दिवाला समाधान प्रक्रिया के तहत जालान फ्रिट्स गठजोड़ एयरलाइन के लिए विजेता बोलीदाता के रूप में उभरा था. पिछले साल जून में राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) ने गठजोड़ की समाधान योजना को मंजूरी दे दी थी. हालांकि, जेट एयरवेज अबतक परिचालन शुरू नहीं कर पाई है. चालू वित्तवर्ष की दूसरी तिमाही में जेट एयरवेज की कुल आय एक साल पहले की समान अवधि के 45.01 करोड़ रुपये से घटकर 13.52 करोड़ रुपये रह गई. सितंबर तिमाही में जेट एयरवेज का कुल खर्च भी बढ़कर 321.76 करोड़ रुपये हो गया.

READ More...  RBI News: महिंद्रा फाइनेंस के खिलाफ आरबीआई का एक्शन, रिकवरी एजेंट रखने पर लगाई पाबंदी

BHEL को हुआ लाभ
सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी भेल ने चालू वित्त वर्ष की सितंबर में समाप्त दूसरी तिमाही में 12.10 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध लाभ कमाया है. आमदनी बढ़ने से कंपनी मुनाफे में लौटी है. इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में कंपनी को 46.58 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध घाटा हुआ था. बीएसई को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि तिमाही के दौरान उसकी कुल बढ़कर 5,418.74 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 5,197.25 करोड़ रुपये थी.

Adani Power
अडाणी पावर का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष 2022-23 की जुलाई-सितंबर तिमाही में 696 करोड़ रुपये रहा. मुख्य रूप से एकबारगी आय बढ़ने से कंपनी का लाभ बढ़ा है. कंपनी ने शुक्रवार को बयान में कहा कि एक साल पहले 2021-22 की इसी तिमाही में उसे 231 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था. कंपनी की कुल आय आलोच्य तिमाही में 52 प्रतिशत बढ़कर 8,446 करोड़ रुपये रही. एक साल पहले 2021-22 की जुलाई-सितंबर तिमाही में यह 5,572 करोड़ रुपये थी.

ये भी पढ़ें: अमेरिकी वित्‍त मंत्री ने किया इशारा, चीन का दबदबा कम करने को US को भारत की जरूरत

बयान के अनुसार, सितंबर में समाप्त तिमाही के राजस्व में एकबारगी 912 करोड़ रुपये की आय शामिल है. यह आय विलम्ब से होने वाले भुगतान पर लगने वाले अधिभार से संबंधित हैं. वित्त वर्ष 2021-22 में कंपनी को एकबारगी आय के रूप में 141 करोड़ रुपये प्राप्त हुए थे. अडाणी पावर की स्थापित तापीय बिजली क्षमता 13,610 मेगावॉट है. कंपनी के सात बिजली संयंत्र गुजरात, महराष्ट्र, कर्नाटक, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में हैं. इसके अलावा 40 मेगावॉट क्षमता का सौर बिजली संयंत्र गुजरात में है.

READ More...  दिल्ली-एनसीआर में ऑफिस की जगह 28.5 प्रतिशत खाली, पुणे में सबसे कम 8.5 प्रतिशत: रिपोर्ट

हिंडाल्को
हिंडाल्को इंडस्ट्रीज का चालू वित्त वर्ष की सितंबर में समाप्त तिमाही का एकीकृत शुद्ध लाभ 35.4 प्रतिशत घटकर 2,205 करोड़ रुपये रह गया. उत्पादन लागत बढ़ने से कंपनी का मुनाफा नीचे आया है. आदित्य बिड़ला समूह की कंपनी ने इससे पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में 3,417 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध लाभ कमाया था. बीएसई को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि समीक्षाधीन तिमाही के दौरान उसकी एकीकृत परिचालन आय बढ़कर 56,176 करोड़ रुपये पर पहुंच गई, जो एक साल पहले समान तिमाही में 47,665 करोड़ रुपये थी.

Tags: Adani Group, BHEL, Life Insurance Corporation of India (LIC)

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)