ration card e0a4aee0a581e0a4abe0a58de0a4a4 e0a485e0a4a8e0a4bee0a49c e0a4afe0a58be0a49ce0a4a8e0a4be e0a4a8e0a48f e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a4ae

नई दिल्ली. मोदी सरकार (Modi Government) ने पिछले दिनों ही देश के 80 करोड़ से भी ज्यादा राशन कार्डधारकों (Ration Card Holders) को नए साल में खुशियों की सौगात दी थी. केंद्र सरकार ने 2023 में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) के तहत मुफ्त अनाज (Free Ration) बांटने का ऐलान किया है. इससे पहले मोदी सरकार ने साल 2020 से लेकर अब तक प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) के तहत मुफ्त राशन का लाभ देती आ रही थी. कोरोना काल से ही यह सेवा 81.3 करोड़ लोगों को मुफ्त में मिल रही है. बता दें कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत उन लोगों को भी राशन फ्री में मिल रही थी, जिनके पास राशन कार्ड नहीं था. लेकिन, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत अब गरीब राशन कार्डधारकों को ही मुफ्त में राशन दी जाएगी.

बता दें मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना अप्रैल 2020 में शुरू किया था. कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन लागू होने के बाद यह स्कीम शुरू की गई थी. पिछले कई सालों से यह स्कीम खत्म करने की बात हो रही थी, लेकिन आखिरकार नए साल में भी मोदी कैबिनेट ने यह स्कीम जारी रखने का फैसला किया है. केंद्र सरकार ने पिछले दिनों कहा था कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत गरीबों को मुफ्त राशन देने पर करीब दो लाख करोड़ रुपये की लागत आएगी. इस लागत का पूरा खर्चा केंद्र सरकार उठाएगी. इसमें राज्यों से पैसे नहीं वसूले जाएंगे.

Ration Card, Ration Cardholder, Food Department, Online Portal, Ration Card News, Pradhan Mantri Garib Kalyan Anna Yojana, Free Ration Card news, NFSA, National Food Security Act, PMGKAY, new year 2023, मोदी सरकार, राशन कार्ड, राशन कार्डहोल्डर, खाद्य विभाग, ऑनलाइन पोर्टल, राशन कार्ड, फ्री राशन कार्ड, एनएफएसए, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम,

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत गेहूं, चावल और मोटा अनाज 1 रुपये से लेकर 3 रुपये प्रति किलो की दर से मिलती है.

नए साल में फ्री राशन लेना कितना बदल जाएगा?
गौरतलब है कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत गेहूं, चावल और मोटा अनाज 1 रुपये से लेकर 3 रुपये प्रति किलो की दर से मिलती है. लेकिन, केंद्र सरकार ने अब ऐलान किया है कि यह राशि भी अब दिसंबर 2023 तक उपभोक्ताओं से नहीं वसूलेगी. बीते 3 सालों में इस योजना के 7 चरण पूरे हो चुके हैं. सबसे पहले मार्च 2020 में पहले चरण में तीन महीने अप्रैल से लेकर जून तक इसे लागू किया गया था.

READ More...  दिल्ली में सेक्सटॉर्शन की शिकायतों की भरमार, मगर...; पुलिस की डेटा से हुआ यह बड़ा खुलासा

देश में अनाज का कितना भंडार?
मोदी सरकार ने कहा है कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) और अन्य कल्याणकारी योजनाओं की जरूरतों को पूरा करने तथा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में अतिरिक्त आवंटन के लिए भारत सरकार के पास केंद्रीय पूल में अनाज का पर्याप्त भंडार उपलब्ध हैं. एक जनवरी, 2023 को लगभग 159 लाख मीट्रिक टन गेहूं और 104 एलएमटी चावल उपलब्ध हो जाएगा.

Ration Card, Ration Cardholder, Food Department, Online Portal, Ration Card News, Pradhan Mantri Garib Kalyan Anna Yojana, Free Ration Card news, NFSA, National Food Security Act, PMGKAY, new year 2023, मोदी सरकार, राशन कार्ड, राशन कार्डहोल्डर, खाद्य विभाग, ऑनलाइन पोर्टल, राशन कार्ड, फ्री राशन कार्ड, एनएफएसए, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम,

अतिरिक्त आवंटन के लिए भारत सरकार के पास केंद्रीय पूल में अनाज का पर्याप्त भंडार उपलब्ध हैं.

अनाज की उपलब्धता पर्याप्त
भारत सरकार ने सुनिश्चित किया है कि केंद्रीय पूल में अनाज की उपलब्धता पर्याप्त रूप से बनी रहे, ताकि देशभर की सभी कल्याणकारी योजनाओं की जरूरतें पूरी की जा सकें तथा कीमतें भी नियंत्रित रहें. केंद्र सरकार ने कहा है कि प्रत्येक वर्ष की पहली जनवरी को 138 एलएमटी गेहूं और 76 एलएमटी चावल का भंडारण होना जरूरी होता है. इस बार यह उससे कहीं अधिक है. केंद्रीय पूल में 15 दिसंबर, 2022 को लगभग 180 एलएमटी गेहूं और 111 एलएमटी चावल की उपलब्धता दर्ज की गई थी. यही वजह है कि सरकार ने साल 2023 में भी फ्री राशन बांटने का स्कीम जारी रखने का फैसला किया है.

ये भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ जंग के बीच में केंद्र सरकार ने दवा कंपनियों पर शुरू किया नकेल कसना

इसी तरह एक देश एक राशन कार्ड (ओएनओआरसी) प्रणाली के माध्यम से भी राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 (एनएफएसए) के तहत सभी लाभार्थी विशेष रूप से प्रवासी लाभार्थी इस योजना का लाभ उठा रहे हैं. सभी लाभार्थी अपने मौजूदा राशन कार्ड का उपयोग करके देश में किसी भी इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ सेल (ईपीओएस) से या बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के साथ आधार संख्या के द्वारा किसी भी उचित मूल्य की दुकान (एफपीएस) से अपने हिस्से का अनाज प्राप्त कर सकते हैं.

READ More...  कौन सच्चा, कौन झूठा? पवार ने बोला अस्पताल में थे देशमुख, बीजेपी ने कहा- कर रहे थे प्रेस कॉन्फ्रेंस

Tags: Free Ration, Modi government, One Nation One Ration Card, Ration card, Ration Cardholders

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)