reliance e0a4abe0a4bee0a489e0a482e0a4a1e0a587e0a4b6e0a4a8 e0a4a8e0a587 e0a4a7e0a580e0a4b0e0a582e0a4ade0a4bee0a488 e0a485e0a482e0a4ac
reliance e0a4abe0a4bee0a489e0a482e0a4a1e0a587e0a4b6e0a4a8 e0a4a8e0a587 e0a4a7e0a580e0a4b0e0a582e0a4ade0a4bee0a488 e0a485e0a482e0a4ac 1

हाइलाइट्स

यह मेरिट आधारित स्कॉलरशिप आवेदन करने के लिए सभी के लिए खुली है.
इसका उद्देश्य भविष्य के लीडर्स की पहचान करना और उन्हें आगे बढ़ाना है.
अपने स्नातकोत्तर अध्ययन के प्रथम वर्ष में नामांकित छात्र आवेदन कर सकते हैं.

नई दिल्ली. रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के संस्थापक चेयरमैन धीरूभाई अंबानी की 90वीं जयंती के अवसर पर रिलायंस फाउंडेशन ने बड़ी संख्या में छात्रों को स्कॉलरशिप देने का ऐलान किया है. फाउंडेशन का प्लान है कि वह भारत में उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों के लिए अगले 10 वर्षों में 50,000 छात्रवृत्ति प्रदान करके युवाओं के लिए अपनी प्रतिबद्धता को पूरी करेगा. फाउंडेशन के मुताबिक 2022 23 में 5000 ग्रेजुएट और 100 पोस्ट ग्रेजुएट छात्रों को स्कॉलरशिप देगा.

आर्थिक रूप से कमज़ोर और पढ़ने में होशियार 5000 स्नातक छात्रों को रिलायंस फाउंडेशन शैक्षणिक वर्ष 2022 23 में 2 लाख रुपये तक की छात्रवृत्ति देगा. साथ ही 6 लाख रु तक की मेरिट आधारित स्नातकोतर स्तर की 100 छात्रवृत्ति दी जाएगी. दोनों ही तरह की छात्रवृत्तिया अध्ययन की पूरी अवधि के लिए होगी. इसके लिए 14 फरवरी 2023 तक आवेदन किए जा सकते हैं.

ये भी पढ़ें: Gold & Silver Price : आज क्या है 10 ग्राम सोने का रेट, लेने से पहले यहां कर लें चेक

की 50,000 स्कॉलरशिप की प्रतिबद्धता की घोषणा
रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक चेयरपर्सन नीता अंबानी ने कहा, “मेरे ससुर धीरूभाई अंबानी हमारे युवाओं की शक्ति और क्षमता में बहुत यकीन रखते थे. उनकी 90वीं जयंती के अवसर पर हमें अगले 10 वर्षों में रिलायंस फाउंडेशन अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट स्कॉलरशिप के माध्यम से 50,000 स्कॉलरशिप की अपनी प्रतिबद्धता की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है. मुझे विश्वास है कि सही समर्थन के साथ, यह पीढ़ी ज्ञान, नवाचार और नेतृत्व के माध्यम से भारत की विकास गाथा का सबसे शानदार अगला अध्याय लिखेगी.”

READ More...  विमानों में तकनीकी समस्याओं को लेकर DGCA की सख्ती का असर, सभी स्टेशनों पर क्वालिफाइड इंजीनियरिंग कर्मी तैनात

भारत की आधी आबादी या 60 करोड़ भारतीयों से अधिक की उम्र 25 से कम है. रिलायंस फाउंडेशन भारत में युवाओं के लिए उच्च शिक्षा को आसान बनाने के लिए प्रतिबद्ध है. इस साल, रिलायंस फाउंडेशन अंडरग्रेजुएट स्कॉलरशिप का लक्ष्य 5000 छात्रों को समर्थन करने का है. स्कॉलरशिप का उद्देश्य छात्रों को सफल पेशेवर बनने और उनके सपनों को साकार करने में सक्षम बनाना है.

ये भी पढ़ें: आज थम गई ट्रेनों की रफ्तार, 6 घंटे तक लेट चल रही हैं गाड़ियां, चेक करें देरी से चल रही ट्रेनों की लिस्‍ट

इन विद्यार्थियों को मिलेगा मौका
विद्यार्थियों को ‘रिलायंस फाउंडेशन अंडरयेजुएट स्कॉलरशिप’ में छात्रवृत्ति के अलावा पूर्व छात्रों के नेटवर्क का हिस्सा बनने का मौका मिलेगा. 15 लाख रुपये से कम पारिवारिक आय वाले और किसी विषय में प्रथम वर्ष के स्नातक छात्र आवेदन कर सकते हैं. कार्यक्रम का उददेश्य लड़कियों और विशेष रूप से विकलांग छात्रों द्वारा आवेदन को प्रोत्साहित करना भी है. रिलायंस फाउंडेशन पोस्टग्रेजुएट स्कॉलरशिप का उद्देश्य भारत के 100 सबसे प्रतिभाशाली पोस्ट ग्रेजुएट छात्रों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना है, जो हर साल उत्कृष्टता का एक समूह बनाकर समाज के हित के लिए कुछ बड़ा सोच सकते हैं और डिजिटली सोच रखते हैं.

योग्याता के आधार पर होगा चयन
यह मेरिट आधारित स्कॉलरशिप आवेदन करने के लिए सभी के लिए खुली है. इसका उद्देश्य भविष्य के लीडर्स की पहचान करना और उन्हें आगे बढ़ाना है. छात्रवृत्ति के लिए विद्यार्थियों को विशेषज्ञों के साथ साक्षात्कार सहित एक कठोर चयन प्रक्रिया से गुजरना होगा. कंप्यूटर साइंस, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, गणित और कंप्यूटिंग, इलेक्ट्रिकल या इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग, केमिकल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, रिन्यूएबल और नई ऊर्जा, मटीरियल साइंस और इंजीनियरिंग और जीवन विज्ञान के छात्रों का चयन योग्यता के आधार पर किया जाएगा.

READ More...  Rice Export Ban : सरकार ने क्‍यों लगाई चावल निर्यात पर रोक, डोमेस्टिक और ग्‍लोबल मार्केट में क्‍या होगा इसका असर?

अपने स्नातकोत्तर अध्ययन के प्रथम वर्ष में नामांकित छात्र आवेदन कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त, रिलायंस फाउंडेशन पोस्टग्रेजुएट स्कॉलरशिप एक समग्र विकास कार्यक्रम मुहैया कराएगा, जिसमें विशेषज्ञों से बातचीत और स्वयंसेवा के अवसर भी शामिल होंगे.

धीरूभाई अंबानी स्कॉलरशिप की शुरूआत 1996 में हुई और 2020 में शुरू हुई रिलायंस फाउंडेशन स्कॉलरशिप ने पूरे भारत में 13,000 युवाओं के जीवन को प्रभावित किया है, जिससे उन्हें प्रमुख संस्थानों से उच्च शिक्षा प्राप्त करने और अपने समुदायों में, भारत और विदेशों में प्रतिष्ठित संगठनों में लीडरशिप पोजिशन हासिल करने में मदद मिली है. रिलायंस फाउंडेशन स्कॉलरशिप ने प्रतिभाशाली यूजी और पीजी छात्रों को समग्र रूप से शिक्षित किया है ताकि उन्हें सामाजिक भलाई के लिए नवाचार करने के लिए सशक्त बनाया जा सके. इन प्रयासों के माध्यम से रिलायंस फाउंडेशन स्कॉलरशिप का उद्देश्य शैक्षिक उत्कृष्टता के प्रति भारत के युवाओं की प्रेरणा को मजबूत करना और उनके पेशेवर विकास को बढ़ावा देना है. रिलायंस फाउंडेशन स्कॉलरशिप से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए, www.scholarships.reliancefoundation.org विजिट करें.

ये भी पढ़ें: बदला जाएगा लेनदेन पर शुल्‍क वसूलने का तरीका! जानें क्‍या तैयारी कर रहा आरबीआई

रिलायंस फाउंडेशन के बारे में
Reliance Industries Limited के ब्रांच Reliance Foundation का उद्देश्य नए और स्थायी समाधानों के जरिए भारत के विकास के रास्ते में आने वाली चुनौतियों का समाधान करने में उत्प्रेरक की भूमिका निभाना है. संस्थापक और चेयरपर्सन नीता अंबानी के नेतृत्व में रिलायंस फाउंडेशन सभी के कल्याण और जीवन को बेहतर बनाने की दिशा में लगातार काम कर रहा है. रिलायंस फाउंडेशन ग्रामीण परिवर्तन, शिक्षा, स्वास्थ्य, आपदा प्रबंधन, महिला सशक्तिकरण, शहरी नवीनीकरण और कला, संस्कृति और विरासत में देश की विकास चुनौतियों को संबोधित करने पर केंद्रित है और पूरे भारत में 64 मिलियन से अधिक लोगों, 53,000 से अधिक गांवों और कई शहरी इलाकों में पहुंच चुका है. अधिक जानकारी के लिए https://www.reliancefoundation.org पर विजिट करें.

READ More...  5G Spectrum Auction: JIO ने लगाई सबसे बड़ी बोली, कहा- दुनिया की सबसे एडवांस नेटवर्क सेवा देने को तैयार

Tags: Business news in hindi, Chairman of Reliance Industries Limited, Mukesh ambani, Nita Ambani, Reliance, Reliance Foundation, Reliance industries, Scholarships

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)