shani gochar 2023 30 e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a4ace0a4bee0a4a6 e0a4b6e0a4a8e0a4bf e0a495e0a4b0e0a587e0a482e0a497e0a587 e0a495e0a581e0a482e0a4ad
shani gochar 2023 30 e0a4b8e0a4bee0a4b2 e0a4ace0a4bee0a4a6 e0a4b6e0a4a8e0a4bf e0a495e0a4b0e0a587e0a482e0a497e0a587 e0a495e0a581e0a482e0a4ad 1

हाइलाइट्स

शनि एक राशि में साढ़े 7 साल रहते हैं, जिसे ज्योतिष शास्त्र में शनि की साढ़ेसाती कहा जाता है.
शनि देव के कुंभ राशि में आने से मकर, कुंभ और धनु राशि के लोगों को लाभ प्राप्त होगा.

Shani Gochar 2023: हिंदू धर्म शास्त्रों में शनि देव को न्याय का देवता कहा जाता है. शनि लोगों को उनके कर्मों के हिसाब से फल प्रदान करते हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि देव अगले साल जनवरी साल 2023 में कुंभ राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं. साल 2023 में शनि देव 30 साल बाद कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे. वर्तमान स्थिति में शनि देव मकर राशि में विराजमान हैं. शनि देव के अपना राशि परिवर्तन करने से कई प्रकार के परिवर्तन अन्य राशियों पर भी देखने को मिल सकते हैं. आइए जानते हैं भोपाल निवासी ज्योतिषी एवं पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा से वे कौन सी राशियां हैं, जिन पर शनि का प्रभाव देखने को मिलेगा.

-यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि की साढ़ेसाती या  ढैय्या  चल रही है और जीवन में शनि से जुड़ी समस्याएं बढ़ रही हैं. तो ऐसे में इन लोगों को गरीब व्यक्तियों और जरूरतमंदों को खाना खिलाना चाहिए, और सामर्थ्य अनुसार दान देना चाहिए. इसके अलावा शनि मंदिर में जाकर दान पुण्य करें और हनुमान जी के मंत्रों का जाप भी करना शुभ होता है.

-शनि से जुड़ी समस्याएं झेल रहे लोगों को पितरों को याद करते हुए पीपल के पेड़ में जल चढ़ाना लाभदायक है. शनि देव के कुंभ राशि में आने से मकर राशि, कुंभ राशि और धनु राशि के लोगों को लाभ प्राप्त होगा. इन राशि वालों के जो बिगड़े काम थे वह बनने लगेंगे और इनका भाग्य भी उनका साथ देगा.

READ More...  Aaj Ka Rashifal: मकर, कुंभ, मीन राशि वाले परिवार के किसी सदस्य की सेहत को लेकर चिंतित रहेंगे?

यह भी पढ़ें – गले में क्यों पहनते हैं काला धागा? जानें क्या है ज्योतिष में इसका महत्व

-शनि का कुंभ राशि में प्रवेश करना कर्क और वृश्चिक राशि के लिए थोड़ा मुश्किल समय ला सकता है. शनि के कुंभ राशि में प्रवेश करने से कर्क और वृश्चिक राशि वालों को धन के साथ सेहत से संबंधित परेशानियां झेलनी पड़ सकती हैं. शनि की ढैय्या चल रही राशियों के लोगों को नौकरी में नुकसान मिल सकता है. इसलिए इन सभी राशि वालों को सावधान रहने की बहुत आवश्यकता है.

यह भी पढ़ें – 7 पॉइंट्स में समझें राहु से जुड़े इस रत्न को धारण करने के फायदे

-शनि एक राशि में साढ़े 7 साल रहते हैं. जिसे ज्योतिष शास्त्र में शनि की साढ़ेसाती कहा जाता है. इस समय कुंभ, धनु और मकर राशि में शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुंभ राशि में 24 जनवरी साल 2020 को शनि की साढ़ेसाती प्रारंभ हुई थी और यह 3 जून 2027 को इस राशि को मुक्त करेंगे.

इसके अलावा मकर राशि वालों पर 26 जनवरी साल 2017 से शनि की साढ़ेसाती शुरू हुई, जो कि 29 मार्च साल 2025 को समाप्त होगी.

Tags: Astrology, Dharma Aastha, Shanidev

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)