swiggy e0a495e0a580 e0a4aee0a4b9e0a4bfe0a4b2e0a4be e0a4a1e0a4bfe0a4b2e0a580e0a4b5e0a4b0e0a580 e0a48fe0a497e0a58de0a49ce0a4bfe0a495e0a58d
swiggy e0a495e0a580 e0a4aee0a4b9e0a4bfe0a4b2e0a4be e0a4a1e0a4bfe0a4b2e0a580e0a4b5e0a4b0e0a580 e0a48fe0a497e0a58de0a49ce0a4bfe0a495e0a58d 1

हाइलाइट्स

बदतमीजी करने वाले कस्‍टर का नंबर स्विगी प्‍लेटफॉर्म से हटा दिया जाएगा.
असुरक्षित क्षेत्रों में महिला डिलीवरी एग्जिक्‍यूटिव को नहीं भेजा जाएगा.
कंपनी महिला एग्जिक्‍यूटिव को कानूनी सहायता भी देगी.

नई दिल्‍ली. स्विगी ने अपनी महिला डिलीवरी एग्जिक्‍यूटिव को यौन उत्‍पीड़न से बचाने के लिए नई नीति बनाई है. नई नीति में महिला डिलीवरी वर्कर्स को कस्‍टमर या थर्ड पार्टी के कार्यस्‍थल पर होने वाले यौन उत्‍पीड़न से बचाने के प्रावधान किए गए हैं. अब अगर कोई ग्राहक स्विगी की महिला डिलीवरी वर्कर के साथ बदतमीजी करता है तो कंपनी न केवल महिला वर्कर को पूरी कानूनी सहायता देगी, बल्कि ग्राहक के नंबर को भी हाईलाइट करेगी. गंभीर अपराध करने पर कस्‍टमर को स्विगी प्‍लेटफॉर्म से हटा दिया जाएगा.

कंपनी का कहना है कि ग्राहक के नंबर को प्‍लेटफॉर्म पर हाईलाइट करने का मकसद किसी महिला एग्जिक्‍यूटिव को उस ग्राहक के पास ऑर्डर देने के लिए नहीं भेजना है. कंपनी का कहना है कि महिला कर्मचारी किसी भी समय पुलिस में ग्राहक के खिलाफ केस दर्ज करा सकती है और कंपनी उसे ऐसा करने से कभी नहीं रोकेगी. मामले की जांच में कंपनी पुलिस की मदद करेगी.

ये भी पढ़ें-   Indian railway : बदल गया ट्रेन टिकट बुकिंग सिस्‍टम, आप पर क्‍या होगा असर और क्‍या मिलेगा फायदा?

महिला एग्जिक्‍यूटिव को मिलेगी पूरी सहायता
ग्राहकों, पुरुष समकक्षों, रेस्तरां भागीदारों और स्विगी कर्मचारियों द्वारा किए जाने वाले यौन उत्पीड़न करने पर महिला डिलीवरी वर्कर स्विगी के आपातकालीन एसओएस नंबर पर कॉल करके सहायता प्राप्‍त कर सकती हैं और शिकायत कर सकती हैं. ऐसे मामलों में महिला कर्मचारी आपातकालीन सहायता के लिए स्विगी की ऑन ग्राउंड टीम के पास शिकायत दे सकती हैं. महिला की अध्‍यक्षता में बनाई गई इंटर्नल कमेटी ऐसे मामलों की जांच करेगी और महिला डिलीवरी एग्जिक्‍यूटिव की आगामी कार्रवाई के संबंध में मार्गदर्शन करेगी. कंपनी पी‍ड़ित महिला एग्जिक्‍यूटिव की मदद पुलिस शिकायत दर्ज कराने में करेगी और जांच में भी पुलिस का सहयोग करेगी.

READ More...  मारुति सुजुकी इस साल रिकॉर्ड 20 लाख से अधिक गाड़ियों का प्रोडक्शन करेगी, पढ़िए कंपनी की पूरी प्लानिंग

ये भी पढ़ें-   Job Alert! आपको भी चाहिए नौकरी तो यहां लगा है मेला, आइये-प्रतिभा दिखाइए और ऑफर लेटर ले जाइये

एक्जीक्यूटिव ऐप से भी ली जा सकती है मदद
स्विगी डिलीवरी एक्जीक्यूटिव ऐप में एक एसओएस बटन होता है. इसकी मदद से चौबीसों घंटे सहायता ली जा सकती है. इसकी मदद से एम्बुलेंस, स्थानीय पुलिस स्टेशन या स्विगी हेल्पलाइन से संपर्क साधा जा सकता है. कंपनी का कहना है कि अगर महिला किसी क्षेत्र को अपने लिए सुरक्षित नहीं मानती हैं तो वे उस क्षेत्र में डिलीवरी करने से मना कर सकती हैं. स्विगी का कहना है कि कंपनी की तकनीकी टीम वर्तमान में यह सुनिश्चित करने के लिए एक सॉल्‍यूशन पर काम कर रही है, जिससे की उन असुरक्षित स्‍थानों महिला डिलीवरी एग्‍जीक्‍यूटिव को डिलीवरी के लिए भेजे जाने से रोका जा सके.

Tags: Business news in hindi, Food business, Swiggy

Article Credite: Original Source(, All rights reserve)